आंदोलन मजदूर मानव अधिकार

भिलाई ःः मजदूर संगठनों ने मनाया शहीद दिवस .

23.03.2019/ भिलाई 

छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा मजदूर कार्यकर्ता समिति द्वारा शहीद भगतसिंह, राजगुरु,सुखदेव का शहादत दिवस मनाया गया जिसमें साझी शहादत को मजदूरो ने लाल सलाम के नारों से सलामी पेश किए,प्रगतिशील सीमेन्ट श्रमिक संघ एवं ओउद्योगिक क्षेत्र के मजदूर सामील हुए साझी शहादत साझी विरासत को याद कर वक्ताओं ने कहा कि शहीदे आजम भगत सिंह का लिखा हुआ इतिहास आज सच साबित हो रहा है .

उन्होंने कहा था कि अभी पूरी आजादी नही मिली है हमे ओर एक नई आजादी के लिए लड़ना होगा ,आज जिस तरह धर्म के ठेकेदारों द्वारा घृणित राजनीति की जा रही है वह बेहद ही डरावना है पता नही कब कहा पँर सम्प्रदायिक दंगे फैला देंगे,कब किसको देशद्रोह कह देंगे,भयानक डरावना परिथिति देश मे पैदा कर दिया गया है,इसीलिए शहीद भगतसिंह ने पुस्तक लिखा है मैं नास्तिक क़्यो हु? कारपोरेट घरानों को खुली छूट दे दी गई है आदिवासियों को उनके जल जंगल जमीन से बेदखल करो,दलितों को मारो ,पितृ सत्ता को बनाए रखो सार्वजनिक उपकर्मो को ठेकेदारी को सौप दिया गया है मजदूरों और किसानों को केवल लाली पाप ही दिखाई जा रही है.

वर्त्तमान में चुनाव लोकतांत्रिक नही रह गया,भगतसिंह ने एक ओर बात कहा था कि कुछ दिन अफरा तफरी में बीतेंगे फिर लोगों को हमारी याद आएगी
आज वास्तव में फिर से नई आजादी की लड़ाई का वक्त आ गया है हम सब की जिम्मेदारी है कि इस संघर्ष को आगे बढ़ाएंगे

**

Related posts

सामाजिक तस्कर : कांचा इलैया (कँवल भारती)

News Desk

सन स्टार ,ःः राजकुमार सोनी ने मानवाधिकार के मुद्दों पर चर्चा की डा. लाखन सिह, बेला भाटिया., कमल शुक्ला और उत्तम कुमार से .

News Desk

श्रम कानूनों मेंं बदलाव और सोनभद्र में आदिवासियों की हत्याकांड के खिलाफ आंदोलन .

News Desk