वंचित समूह

कवर्धा ,बैगाओं की जमीन छीनने और बेदखल किया जा रहा हैं. मामला ग्राम पंचायत माठपुर के नागाड़बरा और टांडीदहरा का.

कवर्धा के पंडरिया ब्लाक .
विशेष संरक्षित जनजाति बैगाओं पर कहर बरपा रही जिला प्रशासन , मामला ग्राम पंचायत माठपुर के नागाड़बरा और टांडीदहरा की।
एक ओर वन अधिकार पत्र देने की बात प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल अम्बिकापुर में दे रहे हैं आदेश वहीं दूसरी ओर आदेशों के विपरीत विशेष संरक्षित जनजाति बैगाओं को खदेड़ा जा रहा है वनों से।गांवों वालों के अनुसार जिला प्रशासन, वन प्रशासन की हरकतें दिल दहलाने वाली है। गाँव में पहुँचते ही सभी लोगों के मोबाईल को जप्ती कर लिया जाता है ताकि उनके अन्याय और अत्याचार का रिकॉर्ड न बने। मीडिया को भनक तक नहीं लगना चाहिए। इस कदर भूपेश सरकार में विशेष संरक्षित जनजाति पर नए तरीकों से अत्याचार बढ़ रहा है।
दिनाँक 3 जून 2019 को लोगों का झोपड़ी तोड़ा गया और आज दिनाँक 4 जून 2019 को ट्रेक्टर से बैगाओं के सामान को जबर्दस्ती ढोया जा रहा है।
नागाडबरा के लोगों के जमीन को हड़पने और उसके समतलीकरण खेत को ट्रेक्टर से बराबर कर खेती योग्य जमीन को नष्ट किया जा रहा है।

**

Related posts

राशन मिलेगा सोचकर उनके पास चला गया था, पुलिस ने इतना मारा कि अब हाथ नहीं उठा पा रहा

News Desk

बिलासपुर जीआरपी थाना में गरीब महिला का शव कचरे की तरह सुबह से पड़ा रहा, कैमरा देखकर बहाना बनाने लगे अधिकारी

News Desk

दो दशक में गटर में घुटकर मरे 1700 गरीब .एक भी जिम्मेदार को सजा नहीं. एक साल में जितने जवान कशमीर में मरे उससे ज्यादा गटर में हुई मौत.

News Desk