अभिव्यक्ति छत्तीसगढ़ ट्रेंडिंग पुलिस बिलासपुर

बिलासपुर : लॉकडाउन में ड्यूटी कर रहे सफ़ाई कर्मियों का पुलिस ने किया उत्साहवर्धन, तालियां बजाईं, फूल बरसाए

समूचा वैश्विक समुदाय आज कोरोना वाइरस संक्रमण महामारी से झूज रहा है समस्त देशों की सरकारें और वहाँ की संस्थाएँ अपने अपने स्तर और तरीक़े से बचाव कार्यों में लगी हुई हैं। इस हेतु तमाम प्रकार के जतन किए जा रहे हैं कहीं सख़्त लॉकडाउन और कहीं आंशिक लॉकडाउन का पालन करवाया जा रहा है। किसी भी रोग से बचाव में मेडिकल के अलावा सबसे महत्त्वपूर्ण क़वायद साफ़ सफ़ाई की होती है जिसमें लगे हुए लोग और कर्मचारीयों पर लोगों की ना नज़र रहती है और ना ही उनको प्रशंसा मिल पाती है बावजूद इसके अपने कार्य को वे बेहद ईमानदारी से निर्वहन करते हैं कोरोना महामारी की लड़ाई में इन योद्धाओं की भूमिका और योगदान का सम्मान किए जाने के लिए बिलासपुर पुलिस ने अपनी ओर से आज पहल किया।

इसी कड़ी में आज दिनांक 05 अप्रैल को  प्रात 10 बजे  बिलासपुर के नेहरु चौक में आईजी दीपांशु काबरा एवं पुलिस अधीक्षक प्रशान्त अग्रवाल के निर्देश पर एडिशनल एसपी द्वय ओपी शर्मा व संजय ध्रुव की अगुवाई में सभी राजपत्रित अधिकारी व थानेदार द्वारा बिलासपुर के सभी सफाईकर्मियों का फूलो की वर्षा एवं तालियों की करतल ध्वनियों से उनका सम्मान करते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया।

इसके बाद बिलासपुर पुलिस अपनी ओर से एक भेंट स्वरूप पुलिस लाइन में पुलिसकर्मीयों द्वारा ख़ाकी मास्क व सेनिटाइजर दिया गया। इस दौरान उनके द्वारा साफ़ सफ़ाई के लिए किए जा रहे प्रयासों की सराहना की गई तथा उन्हें स्वयं को व परिवार को कोरोना से बचाव हेतु समुचित उपाय अपनाने की सलाह दी गई ।

इस मुश्किल घड़ी में विश्वास दिलाया गया कि पूरा समाज, प्रशासन और बिलासपुर पुलिस सदैव उनके साथ है ।अंत में उत्साहवर्धन हेतु भारत माता की जय घोष के नारे लगाए गए।

Related posts

कल्पेश की मौत कहीं हत्या तो नहीं ? :  उत्तम कुमार, सम्पादक दक्षिण कोसल.

News Desk

छत्तीसगढ़: ठेका खेती के ख़िलाफ़ किसान सभा करेगी 10 जून को प्रदेशव्यापी विरोध प्रदर्शन

News Desk

पूणे पुलिस द्वारा प्रस्तुत तथ्य पूरी तरह फर्जी, फेब्रीकेटेड है. यह सामाजिक संगठनों ,कार्यकर्ताओं को बदनाम करने और सामाजिक संगठनों को खतम करने की साज़िश हैं .: पीयूसीएल छतीसगढ.

News Desk