छत्तीसगढ़ ट्रेंडिंग पुलिस बिलासपुर शिक्षा-स्वास्थय

बिलासपुर: लॉकडाउन में छूट का समय फिर से बदल गया है, अब न 7 से 12 है न 7 से 4, जानिए पूरी अपडेट

लॉक डाउन में बाज़ार खुलने का समय पहले सुबह 7 से 12 बजे तक था फिर इसे शाम 4 बजे तक बढ़ाया गया. अब एक बार फिर नई समय सीमा तय कर दी गई है.

शाम 4 बजे तक की छूट मिलने के बाद लोग जेल से छूटे कैदी की तरह सड़कों पर निकल आए और सोशल डिस्टेंसिंग का गला घोंट दिया, लिहाज़ा प्रशासन ने इस पर पुनर्विचार कर छूट का समय वापस से कम कर दिया है.

जिला कलेक्टर संजय अलंग ने बिलासपुर जिले की राजस्व सीमा के अंतर्गत आने वाले सम्पूर्ण क्षेत्र के लिए नई नियमावली जारी की है. नए प्रतिबंधात्मक आदेश के अनुसार:-

मिल्क पार्लर, मेडिकल स्टोर्स, पेट्रोल पम्प, राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित ढाबे, टेक एव होम्स, होम डिलीवरी रेस्टोरेंट्स को छोड़कर बाकि पूरा बाज़ार हफ्ते में सिर्फ़ 5 दिन दी खोला जा सकेगा. रविवार और बुधवार को पूरा बाज़ार बन्द रहेगा.

इस प्रतिबंधात्मक आदेश में अलग अलग संस्थानों के लिए अलग अलग समय भी तय किया गया है

सुबह 7 बजे से दोपहर 1 बजे तक

1 – सभी मंडियां, दुकान व ठेले (अब्ज़ी, फल, अनाज, चिकन, मटन, मछली), कृषि मशीनरी विक्रय एवं स्पेयर पार्ट्स की दुकानें, खाद, उर्वरक, कीटनाशक एवं बीज विक्रय, पशु चारा(चौपाया, मछली चारा)

2 – देलिनीड्स, किराना, आता चक्की, मोबाईल रीचार्ज की दुकाने, चश्मा दुकान, वाटर केन, पनीर एवं दूध से निर्मित मिठाइयों की दुकानें

सुबह 7 बजे से 10 बजे तक फिर शाम 5 से 7 बजे तक

मिल्क पार्लर सुबह 7 से 10 बजे तक तीन घंटे के लिए खुलेंगे फिर शाम को 2 घंटे के लिए 5 बजे से 7 बजे तक खोले जा सकेंगे. इस आदेश के पहले तक मिल्क पार्लर को सुबह से शाम तक खोले रखने की अनुमति थी. अब से ये दोपहर को बन्द रहेंगे.

केवल सोमवार और गुरूवार को खुलने वाले संस्थान

कुछ संस्थान सप्ताह में केवल दो ही दिन सुबह 7 बजे से दोपहर 1 बजे तक ही खोले जा सकेंगे इनमें ऑटो मोबाइल, टायर एवं पंचर की दुकानें, इलेक्ट्रिकल्स, हार्ड वेयर, स्टेशनरी, सेनेटरी (प्लम्बर) आयटम्स, बिजली पंखे की दुकान, सीमेंट, सरिया आदि निर्माण सामग्रियों की दुकान शामिल हैं.

ये नया आदेश प्रदेश के कोरोना हॉटस्पॉट एवं कन्टेमेंट ज़ोन के लिए नहीं है. उन इलाकों में पहले की ही तरह लॉकडाउन के प्रतिबन्ध लागू रहेंगे. 

Related posts

“मॉब लिंचिंग” दुर्दांत और भयानक है यह सब रुकना चाहिए: अमन की पहल

News Desk

दिल्ली हिंसा:AAP ने उपराज्यपाल आवास के बाहर डाला डेरा, सुरक्षा आश्वासन के बाद लौटे

News Desk

डाक्टर शरत वर्मा : यह भी हमारा ही चेहरा है

News Desk