Covid-19 छत्तीसगढ़ पुलिस बिलासपुर

बिलासपुर: महिला थाना में फिजिकल डिस्टेंसिग की उड़ाई जा रहीं धज्जियां

बिलासपुर : कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते मामलों को नियंत्रण में लाने के लिए छत्तीसगढ़ के कई ज़िलों में एक बार फिर से सम्पूर्ण लॉक डाउन की घोषणा की गई है।

एक तरफ़ तो बिलासपुर का पुलिस प्रशासन कल से लगने वाले लॉक डाउन की तैयारियां कर रहा है तो वहीं दूसरी तरफ़ बिलासपुर के ही महिला थाना में डिस्टेंसिग और दूसरे तमाम दिशानिर्देशों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं।

जानकारी मिली है कि महिला थाना में अलग अलग जगहों से रोज़ाना 50 से 80 लोग आते हैं जिन्हें एक ही जगह पर एकसाथ बिठा दिया जाता है। लोगों ने हमें बताया कि बिलासपुर के महिला थाना में फिजिकल डिस्टेंसिग की अनदेखी की जाती है। थाना आने वाले लोगों सेनेटाइजर इस्तेमाल करने भी नहीं कहा जाता है।

गौरतलब है कि अभी हाल ही में संभाग के कुछ जवानों में कोरोन के पॉजिटिव केस मिल चुके हैं जिसके कारण कई थानों को कंटेनमेंट जोन घोषित कर के बन्द करना पड़ा था। इसके बावजूद भी विभाग में इस तरह की लापरवाही हो रही है आला अधिकारी को इस संज्ञान में लेकर कार्रवाई करनी चाहिए। देखना है कि आला अधिकारी इस दिशा में क्या कदम उठाते हैं।

बिलासपुर के महिला थाना में हो रही नियमों की ये अनदेखी शहर में कोरोना संक्रमण के खतरों को बढ़ा भी सकती है। यदि पुलिस स्टेशन के अंदर ही नियमों की ऐसी अनदेखी की जाएगी तो लॉक डाउन के दौरान किस मुह से पुलिस लोगों को डिस्टेंसिग फॉलो करने की नसीहत दे पाएगी।

Related posts

छत्तीसगढ़ से चली पहली मजदूर स्पेशल ट्रेन का आंखोदेखा हाल देखिए लाईव वीडियो में

Anuj Shrivastava

कोरिया : RTI एक्टिविस्ट पर जानलेवा हमला, गंभीर हालत में रायपुर रेफ़र

News Desk

भूल-ग़लती : मुक्तिबोध, एक विश्लेषण

News Desk