छत्तीसगढ़ पुलिस बिलासपुर महिला सम्बन्धी मुद्दे मानव अधिकार

बिलासपुर : मंडप में पहुंचकर पुलिस ने रोका बालविवाह, लड़की के पिता से लिया शपथपत्र

सोमवार 29 जून 2020 की दरमियानी रात कोनी पुलिस को मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई कि छोटी कोनी गुड़ाखू फैक्ट्री के पास बस्ती में एक नाबालिग बच्ची का ज़बरदस्ती विवाह कराया जा रहा है। सूचना मिलने पर पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल के निर्देश पर महिला एवं बाल विकास विभाग और चाईल्ड लाईन की टीम तुरंत मौके पर पहुंची और ज़बरदस्ती हो रहे इस बाल विवाह को रोका।

अधिकारियों की मौजूदगी में दोनों पक्षों से पूछताछ कर उनका बयान लिया गया।

विभाग के लोगों ने दोनों पक्षों को बालविवाह न करने की समझाइश दी दोनों परिवारों को इस बात की भी जानकारी दी गई के बालविवाह करवाना कानूनन अपराध है।

करहिपारा, निरतु, तखतपुर निवासी लड़की के पिता से विवाह प्रतिबंध अधिनियम की धारा 2 (क) के अनुसार घोषणापत्र लिया गया कि जब तक लड़की बालिग नहीं हो जाती तब तक वे उसकी शादी नहीं करेंगे। समझाइश के बाद दोनों पक्षों को वापस उनके निवास की ओर रवाना कर दिया गया।

Related posts

क्या 15-20 माओवादियों के मारे जाने का दावा ग़लत है? – बीबीसी – आलोक प्रकाश पुतुल

cgbasketwp

Law Students Condemn Wrongful Arresting of Advocate Sudha Bharadwaj

News Desk

आदिवासी नर्सिंग छात्राओं का लंबित प्रशिक्षण शुल्क देने की मांग की माकपा छत्त्तीसगढ  ने

News Desk