महिला सम्बन्धी मुद्दे शिक्षा-स्वास्थय

बाल संप्रेक्षण गृह में किशोर की मौत का मामला, अभी तक नहीं हो पाये बयान परिजनों के.पुलिस की लापरवाही .

14 को जारी किया था नोटिसः सरकंडा के बाल संप्रेक्षण गृह में किशोर की मौत का मामला

पुलिस ने मृतक के परिजनों को देर से दी सूचना , इसलिए नहीं हो सका बयान , अब 20 को होगा परिजनों संप्रेक्षण

बिलासपुर . बाल संप्रेक्षण गृह चेंजिंग रूम में 27 जुलाई की सुबह संदिग्ध परिस्थितियों में किशोर लाश मिलने के मामले में जिला कोर्ट के सीजेएम ( मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ) संज्ञान लिया परिजनों लोगों का बयान लेने कोर्ट सरकंडा पुलिस को अगस्त को नोटिस जारी कर अगस्त को सुबह 11 बजे कोर्ट उपस्थित करने के आदेश दिए पुलिस ने परिजनों को दोपहर 12 बजे सूचना दी परिजन कोर्ट पहुंचे लेकिन समय निकल जाने के कारण सीजेएम ने बयान के लिए 20 अगस्त तारीख निर्धारित की है । बाल संप्रेक्षण गृह 27 जुलाई अशोक नगर सरकंडा निवासी वर्षीय किशोर की लाश संप्रेक्षण के बाथरूम चेंजिंग रूम रौशनदान से फांसी के फंदे पर लटकती मिली थी । मृतक के शरीर चींटियां चल रही थीं । किशोर लाश तकिए के खोल के फंदे लटक रही थी । चेंजिंग रूम में 2 गड्ढे थे । संप्रेक्षण गृह के एक सुबह साढ़े 6 बजे किशोर फांसी के फंदे पर देखी मिलने पर संप्रेक्षण नाइट ड्यूटी पर तैनात उमाशंकर नवरंग पिता सौपत राम नवरंग को दी संप्रेक्षण गृह की तत्कालीन अधीक्षिका अनुराधा सिंह को दी थी

कलेक्टर से की शिकायत

इधर मृतक के परिजनों ने अधिकारी की रीडर मैडम लाल द्वारा किए गए अमानवीय व्यवहार और विवाद की शिकायत कलेक्टर से की है । कार्यालय से बाहर एक तक खड़ा रखने और बयान लेने समय भी खड़ा रखने की नियमों की जानकारी परिजनों कलेक्टर मांगी है । वहीं रीडर के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी की गई

परिजनों की फट्टी राह गई थी आँखे:

परिजन जब बाल संप्रेक्षण गृह चेंजिंग रूम में बेटे की लाश देखकर उनके पैरों तले जमीन खिसक गई परिजनों के समझ में यह नहीं आ रहा था कि किशोर बदबूदार चेंजिंग में पहुंचा परिजनों सवालों के जवाब संप्रेक्षण गृह , पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी भी पाए थे ।

इन्हें बुलाया गया बयान के लिए :

मृतक किशोर के पिता , मृतक किशोर माता , मृतक किशोर के चाचा , बबलू प्रसाद शर्मा पिता मोहन 41 ) अशोक विहार , दिलीप सिंह पिता मुख्तियार सिंह ( 34 ) सूर्या चौक चिंगराजपारा , अजीत सिंह ठाकुर पिता राजकुमार सिंह ( 31 ) काली बाड़ी सरकंडा

कोर्ट से बयान के लिए को जारी हुआ था

14 नोटिस थाने में था । 16 अगस्त को आरक्षकों को को बयान के लिए कोर्ट लेजाने के निर्देश दिए गए थे । आरक्षक लेटलतीफी से सूचना परिजनों को दी थी मजिस्ट्रेट ने 20 अगस्त को बयान दर्ज करने की तारीख तय की है । – रामआश्रय यादव , एसआई व प्रभारी सरकंडा थाना

जांच के नाम पर खानापूर्ति , रीडर ले रही हैं बयान

संप्रेक्षणगृहमें किशोर केफांसी मामले दंडाधिकारी जांच के पर खानापूर्ति हो रही है कार्यपालक दंडाधिकारी अनुपस्थिति उनकी रीडर बयान दर्ज कर । बुधवार को बयान लिए परिजनों को डेढ़ तक कार्यालय के बाहर खड़ा किया गया । बयान लिए अंदर बुलाकर रीडर कर बयान लिया इसपर करने पर रीडर परिजनों विवाद किया । परिजनों शिकायत कलेक्टर से की है 26 को केन्द्रीय जेल संप्रेक्षण भेजे गए 17 वर्षीय किशोर संप्रेक्षण गृह के बाउंसरों सोने लिए बाथरूम से चेंजिंग भेजा था । 27 जुलाई को कमरे रौशन दान से किशोर लाश फांसी के फंदे पर मिली । सोमवार को संप्रेक्षण जांच अधिकारी टंडन ने किशोर पिता काबयान दर्ज किया । किशोर के दादीव मां 14 अगस्त को दर्ज कराने कलेक्टोरेट स्थित कक्ष क्रमांक 25 बुलवाया गया था । परिजन दोपहर 1 बजे कक्ष में पहुंचे यहां जांच अधिकारी टडन नहीं थे , लेकिन उनकी रीडर लाल मैडम बैठी बयान के लिए उन्होंने परिजनों घंटे तक कार्यालय के बाहर खड़ा बार – बार आग्रह करने पर रीडर बयान के लिए मृतक के चाचा को कक्ष में बुलाया।

किशोर ने किया बड़ा खुलाशा

सोमवार 12 अगस्त को बाल संप्रक्षण में मृतक के पिता का बयान दर्ज के बाद जांच अधिकारी टंडन मृतक के साथी किशोर का बयान किया साथी किशोर ने जांच अधिकारी को बताया कि वह पूर्व मृतक के साथ बाल संप्रेक्षण गृह है । यहां अधीक्षिका द्वारा नियुक्त किये गए बाउंसर बच्चों से मारपीट करते थे । साथ ही संप्रेक्षण गृह मतें अच्छे से रखने की बात पर परिजनों रकम मंगवाते थे । छोटी मोटी गलतियों पर बच्चों की पिटाई करने साथ – साथ उन्हें भोजन नहीं पहले दिन जो भी संप्रक्षण पहुंचता था उसे चेंजिंग रूम ( वीआईपी रूम ) में सुलाया जाता था । मामले में संप्रेक्षण गृह से जमानत वाले पहले किशोर का अधिकारी ने बयान लिया है।

पत्रिका न्यूज

Related posts

रायगढ,धर्मजयगढ़ : फ्लोराइड युक्त दूषित भूगर्भ जल के उपयोग से फ्लोराइसिस बीमारी की चपेट में ग्रामीण. इंटेंसिव रिपोर्ट .

News Desk

छतीसगढ ः पत्थल गढ़ी भाजपा और सरकार के लिए गले की फ़ांस बन गई .संघ और भाजपा आई बैकफुट पर. विधानसभा सभा चुनाव मे खतरे का आभास.

News Desk

यही समझ है जो कल्लूरी को कल्लूरी बनाती है !!

cgbasketwp