आदिवासी राजनीति

बस्तर और आदिवासीयों को बनाया राजनैतिक दलोंं ने सिरमौर .


ललित नरोटी की रिपोर्ट

बस्तर बना राजनीति का सिरमौर


राजनीति जहां रोज करवट बदलती है वहीं अब छत्तीसगढ़ की राजनीति में बस्तर की धमक बढ़ने लगी है हम बात कर रहे हैं राजनीतिक दलों के प्रदेश प्रमुखों का, हाल ही में नियुक्त प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम के बाद अब कांग्रेस के प्रमुख विंगों में प्रदेश प्रमुख बस्तर संभाग से बनाए गए हैं,
…..प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष फूलो देवी नेताम जो बस्तर संभाग की केशकाल विधानसभा से तालुकात रखती हैं वहीं हाल ही में नियुक्त युवक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पूर्णचंद्र (कोको) पाढ़ी भानुप्रतापपुर विधानसभा से संबंध रखते हैं इसके साथ ही आज ही नियुक्त प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम कोंडागांव से दो बार के विधायक हैं
दूसरी तरफ प्रदेश की प्रमुख विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रमुख की तो विक्रम उसेंडी अंतागढ़ विधानसभा से तालुकात रखते हैं जो विधायक और सांसद पद को सुशोभित कर चुके हैं|
………विधानसभा चुनाव में तीसरी शक्ति के रूप में जोर आजमाइश करने वाली आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रमुख कोमल हुपेंडी भानुप्रतापपुर विधानसभा से संबंध रखते हैं जिनको विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने मुख्यमंत्री के रुप में पेश किया था|
इस तरह छत्तीसगढ़ की राजनीति में बस्तर के जनप्रतिनिधियों को महत्व दिया जाना निश्चित ही इस संभाग के लिए एक अच्छा संकेत रहेगा|
सवाल यह कि क्या अब बस्तर की आवाज बुलंद हो पायेगी, विकास दौड़ पायेगा?

Related posts

आदिवासी नर्सिंग छात्राओं का लंबित प्रशिक्षण शुल्क देने की मांग की माकपा छत्त्तीसगढ  ने

News Desk

PUCL Convention: Resolutions on Kashmir Issue, FRA and Elgar Parishad Arrests Passed

News Desk

एर्राबोर शरणार्थी शिविर में हमला मामला : 13 वर्ष पूर्व हुए हमले की विस्तृत रिपोर्ट रजिस्ट्री कार्यालय से मंगाई.

News Desk