मानव अधिकार

प्रोफ़ेसर बुद्ध सिंह और उनका संघी दल ने सरकारी पहल और सरंक्षण में किया बस्तर का दौरा किया

 

जेएनयू और डीयू को हमशा देशद्रोहियों का अड्डा बताने वाले प्रोफ़ेसर बुद्ध सिंह और उनका संघी दल ने सरकारी पहल और सरंक्षण में किया बस्तर का दौरा किया और सिर्फ पुलिस के एनजीओ अग्नि से मिले ,पुलिस अफसरों से बात की और कुछ कोर्ट के संघी वकीलों से मिलकर प्रेस कोंफ्रेंस करके खुद को छोड़ कर बांकी सबको बताया राष्ट्रद्रोही .
सरकारी पंखो पर उड़ने वाले उड़ान के लोग एक निश्चित एजेंडे के तहत आये ,पुलिस के अत्याचार को जस्टिफाई किया और आदिवासियों के साथ हो रहे अत्याचार के बारे में एक शब्द भी नहीं कहा .किसी ने कहा की एक बहु चर्चित पुलिस अधिकारी की स्थापित करने के गुप्त मिशन पर इन्हें लाया गया .
इन्होने किसी आदिवासी नेता या कार्यकर्ता से मुलाकात नहीं की ,किसी मानवाधिकार कार्यकर्त्ता को नहीम बुलाया

Related posts

सुधा भारद्वाज सहित अन्य मानवधिकार कार्यकर्ता, वकील और लेखकों की फर्जी मामलों में गिरफ़्तारी का छत्तीसगढ़ बचाओ आन्दोलन कड़े शब्दों में निंदा.

News Desk

चीफ जस्टिस खेहरः क्या आज कोई अंग्रेज़ गवर्नर-जनरल की हत्या करने वाले ?

News Desk

माओवादियों को सरकार ने दिये थे करोड़ो-भूपेश – सीजी खबर

cgbasketwp