कला साहित्य एवं संस्कृति

पैगाम – ए – अमन ,अंधेरे से उजाले की ओर.ःः 23 को रायपुर में.

सादर आमंत्रण

21.11.2018 ,रायपुर 

आज के इस अंधकारमय, उन्माद भरे दौर में लोगो के बीच मानवमुक्ति, इंसानियत, अमन की सोच कायम करना बहुत ज़रूरी है | गंगा जमुनी तहजीब, प्रेम, सौहाद्र और बहनापा / भाईचारा हमारी ताक़त रही है | हमें हर किस्म के भेदभाव, हिंसा, असहिष्णुता को दरकिनार कर लोगों को करीब लाना है | एक संवेदनशील और बराबरी पर आधारित समाज बनाना है |

इसी उद्देश्य से मौजूदा संघर्षमय हालात को कविताओं / गीतों के ज़रिये लोगों तक पहुँचाने का एक विनम्र प्रयास है पैगाम – ए – अमन | कार्यक्रम में रचनात्मकता के क्षेत्र में सक्रिय कवयित्रियों द्वारा प्रस्तुत हिंसा के खिलाफ अमन पर आधारित कविताएँ व गीत सुनने का हमें अवसर मिलेगा | कार्यक्रम में आपको तहेदिल से आमंत्रित करते हैं | आइये इस मौके पर कविताओं व गीतों के ज़रिये लोगों के दिलों में प्रेम व अमन के दीप जलाएं |

दिन – 23 नवम्बर 2018 (शुक्रवार)
समय – दिन के 11 बजे से 02 बजे तक
स्थान – वृंदावन हॉल, आई. डी. बी. आई. बैंक के समीप, सिविल लाइन्स, रायपुर (छ. ग.)
आयोजक – क्रांतिकारी सांस्कृतिक मंच व पीस रायपुर

Related posts

|| मुझे शक है, हर एक पर शक है || कुमार अंबुज .

News Desk

एक लोक कलाकार जो कथा बन गया . : चमरु यादव का नाम सुना है आपने ? : नाचा थिएटर के निसार अली से बातचीत पर आधारित : ‘नाचा की कहानी, निसार की जुबानी’ का एक अंश. ◼️ दिनेश चौधरी

News Desk

Civil Society strongly condemns the criminal intimidation and threats made to noted scholar and ant-communalism activist Dr. Ram Puniyani and demand speedy and thorough investigation into the crime.

News Desk