अभिव्यक्ति आंदोलन नीतियां

पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने और पत्रकारों पर दर्ज मामले रद्द करने के लिये राज्य स्तरीय बेठक रायपुर में.

रायपुर .

अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति छत्तीसगढ़ की प्रदेश स्तरीय बैठक 7 जुलाई अवंती विहार रायपुर में आहूत की गई

     जिमसें रायपुर,दुर्ग,बिलासपुर, अम्बिकापुर, मनेंद्रगढ़, सूरजपुर,महासमुंद, कांकेर, बीजापुर, राजनांदगांव, रायगढ़ के अलावा अन्य जिलों से पत्रकार एकत्रित हुए और पत्रकार सुरक्षा कानून लागू कराने व पत्रकारों पर दर्ज एफ.आई.आर.वापस लेने के लिए सरकार से कड़े शब्दों में आवाहन किया गया, साथ ही  सभी पत्रकारों ने एक शुर में कहा कि शीत कालीन सत्र में विधानसभा में पत्रकार सुरक्षा कानून का ड्राफ्ट व पत्रकारों पर दर्ज एफ.आई.आर. वापस लेने पर चर्चा हो और जल्द से जल्द पत्रकार सुरक्षा कानून बनाया जाये।

        इसके अलावा सभी जिलाध्यक्षों ओर जिला प्रभारियों को निर्देशित किया गया कि सभी 90 विधानसभा के विधायकों को पत्रकार सुरक्षा कानून लागू कराने लागू करने एवं पत्रकारों में दर्ज एफ .आई.आर. वापस लेने हेतु ज्ञापन सौपगें ,साथ ही साथ विधायकों से अपील करेंगे की पत्रकारों की मांग शीतकालीन सत्र में विधानसभा के पटल रखे।

    इन दो मुद्दों के अलावा  23 जुलाई को महासमुंद में प्रदेश स्तरीय महाधरना का आह्वान किया गया है जिसमे प्रदेश के समस्त पत्रकार शामिल होंगे । संगठन को मजबूती देने के लिए दो जिलों में जिलाध्यक्षों को मनोनीत किया गया महासमुंद से आनंद साहू जी,सूरजपुर से राजेश सोनी जी को जिम्मेदारी सौपी गई ।

         इसके अलावा जिलाध्यक्षों पदोन्नति देकर प्रदेश समिति में शामिल किया।जिन जिलाध्यक्षों को पदोन्नति दीगई उसमें रायपुर,बिलासपुर, मुंगेली,जांजगीर चाम्पा, कोरबा है ।बैठक का आयोजन प्रदेश प्रवक्ता राकेश दुबे के देखरेख सम्पन्न हुआ। बैठक में शामिल होने वाले पत्रकार गोविन्द शर्मा,नितिन सिन्हा, राकेश परिहार,महफूह खान,अक्षय स्वर्णकार, आनंद साहू,दिलीप शर्मा,अशोक साहू,ऋषि केश मुखर्जी,नाहिदा कुरैशी, सतीश पांडेय, प्रवीण निशी, सुरजीत सिंह रैना,प्रशांत इल्मकार, क्रांति रावत,राजेश सोनी,आदि पत्रकार  शामिल हुए.

Related posts

क्या जनबुद्धिजीवी प्रोफेसर आनन्द तेलतुम्बड़े सलाखों के पीछे भेज दिए जाएंगे ? एक आसन्न गिरफ़्तारी देश के ज़मीर पर शूल की तरह चुभती दिख रही है. – लेखक और सांस्कृतिक संगठन

News Desk

चुनाव में चुनना क्या है? ःः सीमा आजा़द .

News Desk

Anti-poor BJP government unleashes Emergency-like Rule in Assam: Brutal evictions of the indigenous poor and all-out attack on peoples’ organisation KMSS

News Desk