अभिव्यक्ति नीतियां

धार्मिक त्योहार मनाने पर सामाजिक दंड/बहिष्कार जैसे जन विरोधी कदमों का विरोध .जीएसएस

सामाजिक दंड/बहिष्कार संबंधी
गुरुघासीदास सेवादार संघ [GSS]

अभी एक वाट्सअप में एक पोस्ट फारवर्ड किया गया है जिसमें एक आदिवासी समाज/ संस्था द्वारा निर्णय आदेशित किया गया है कि जो कोई हमारे आदिवासी समाज का व्यक्ति राखी और गणेशोत्सव मनाएगा उस पर सामाजिक दंड ( नगद राशि) किया जाऐगा ।

            इस पर GSS का यह विचार है कि लोगों द्वारा मनाए जाने वाले किसी भी त्यौहार/ आयोजन में अवैज्ञानिकता ,सामाजिक अज्ञानता पैदा होता है तो इसके लिए सही ज्ञान प्रचार एवं वैकल्पिक आयोजनों को किया जाना चाहिए न कि जोर जबरन व सामाजिक दंड का भय बनाकर ।
             इससे थोड़ी देर के लिए ऐसा लगता है कि ये प्रगतिशील कदम है लेकिन यह कोरा भ्रम है।दरअसल किसी समाज का तीज त्यौहार न एक दिन अचानक शुरू हुआ है और न एक दिन अचानक खतम हो जाएगा।जिसे जो भी परंपरा/ आयोजन समाज में असंगत लगता है उन्हें सुसंगत बनाने दीर्घ कालीन रचनात्मक करना होता है।

अलौकिक परंपरा विरोधी वैज्ञानिक चेतना के पक्षधर कम्युनिस्ट शासित देश चीन में भी आज कई धार्मिक समुदायों के असंगत लगने वाले आयोजन होते है।लेकिन वैज्ञानिकता के प्रसार से इनमें कमी देखा जा रहा है,लेकिन पुरी तरह खत्म नहीं हुआ है।जबकि भारत में तो अवैज्ञानिकता फैलाने -बढाने वाले तत्व ही शासक हैं।
GSS का मानना है कि सामाजिक दंड/ बहिष्कार का शिकार आम जन होगा।उपर पहुँचे लोग तो आराम से राखी / गणेशोत्सव मनाते रहेंगे और वे बड़े आराम से दंड से बचे और उल्टे उन आदिवासियों के नेता बने रहेंगे।
सत्ताधारी rss / भाजपा के रणनीतिकार इस प्रयास में रहते हैं कि प्रगतिशील तबका में अपने लोगों का घुसपैठ कराकर उनसे कुछ ऐसा कहा/ करवाया जाए जिसके प्रत्युत्तर ( काउंटर अटैक ) में प्रगतिशीलों को जबरिया काम करने वाले सिद्ध कर उन्हें [ हमारी धर्म -संस्कृति के दुश्मन कहकर ] कुचला जा सके।
अतएव सभी प्रगतिशील तबका से निवेदन है कि अवैज्ञानिक, सामाजिक असंगत परंपरा को खत्म करने नियमित -दीर्घकालीन योजना बनाए वैचारिक संघर्ष करने के साथ बुनियादी आर्थिक सामाजिक मुद्दों को जनसंघर्ष की प्राथमिकी बनाई जाए और सामाजिक दंड/बहिष्कार जैसे जन विरोधी कदमों का खंडन विरोध किया जाए ।

           वीरेंद्र सतनाम 
   केंद्रीय मीडिया प्रभारी GSS

Related posts

रायपुर , लीड 18 प्लस ने फादर्स डे पर बच्चों को किया निशुल्क कपड़ा वितरण.

News Desk

लोकतांत्रिक परंपरा को बनाए रखने और जनता की बेहतरी के लिए 10 सितंबर आम हड़ताल को सफल बनाएं. : वामपंथी पार्टीयां बिलासपुर

News Desk

कश्मीर फ़तहका विजय ध्वज स्त्री देह में गाड़ने को आतुर’ राष्ट्रवादी’ : बादल सरोज

News Desk