अदालत

दुष्कर्म पीड़िता की याचिका पर निर्णय रखा सुरक्षित

बिलासपुर

हाई कोर्ट ने दुष्कर्म के आरोपित के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने और उसके अग्रिम जमानत को निरस्त करने की मांग को लेकर पेशयाचिका पर निर्णय सुरक्षित रखा पश्चिम बंगाल निवासी पीड़िता अपनी सरकंडा क्षेत्र में रहने वाली अपनी सहेली से मुलाकात करने आई थी । राजनांदगांव निवासी शुभम लालवानी वहां आया एवं उसके साथ दुष्कर्म किया विरोध करने पर उसने शादी करने की बात कही इसके बाद कई बार आरोपित ने दुष्कर्म किया विवाह करने से इन्कार करने पर पीड़िता ने सरकंडा थाने में रिपोर्ट लिखाई रिपोर्ट के बावजूद आरोपित के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने पर उसने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की कोर्ट ने पुलिस को नोटिस जारी किया नोटिस जारी होने के पर सरकंडा पुलिस ने आरोपित के खिलाफ जुर्म दर्ज कर मामले को विवेचना में लिया दूसरी ओर आरोपित को हाई कोर्ट से अग्रिम जमानत मिल गई इस पर पीड़िता ने जमानत निरस्त कराने अलग से आवेदन दिया आवेदन में कहा कि आरोपित ने अपना गलत नाम बताकर जमानत लिया है । पिछली सुनवाई के कोर्ट ने आरोपित के मूल दस्तावेज पेश करने का आदेश दिया था । बुधवार को जस्टिस आरसीएस सामंत के कोर्ट में मामले की अंतिम सुनवाई हुई कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद याचिका को निर्णय के लिए सुरक्षित रखा है ।

Related posts

जानिये रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद के मध्यस्थों के बारे में.

News Desk

अनुच्छेद 370 हटाने पर संविधान पीठ करेगी विचार

News Desk

छतीसगढ : एट्रोसिटी एक्ट में बदलाव के खिलाफ भारत बंद के आव्हान पर कल 2 अप्रेल को सम्पूर्ण छतिसगढ बन्द की तैयारी .जगह जगह बंद के लिये बैठक प्रदर्शन रैली .बलरामपुर से कोंटा तक बंद की खबरें.

News Desk