आदिवासी दलित मानव अधिकार राजकीय हिंसा राजनीति शासकीय दमन

दंतेवाड़ा : ग्राम समेली, पांडू पारा की एक आदिवासी युवती का C.R.P.F. द्वारा बलात्कार का आरोप .

लिंगाराम कोडपी की रिपोर्ट 

18.09.2018/ दंतेवाड़ा 

दन्तेवाड़ा, छत्तीसगढ़ राज्य के ग्राम समेली, पांडू पारा की एक आदिवासी युवती का C.R.P.F. द्वारा बलात्कार हुआँ हैं। युवती होश में नहीं हैं। अभी कुआकोण्डा अस्पताल में भर्ती हैं। सर्व आदिवासी समाज तुरन्त कार्यवाही करने में इस युवती की मदद करे आप सब से अपील हैं।

यह घटना 14/9/18 की हैं। युवती हल जोत कर खाना खाने के बाद बण्डा लेकर घर से आधा किलोमीटर दूर लकड़ियां लेने जंगल गयी हुई थी। युवती जब शुक्रवार शाम को घर नहीं पहुँची तो परिजनों को लगा कि युवती घर नहीं पहुची हैं, तो गाँव के अन्य ग्रामीणों को बताया तब गाँव के ग्रामीण युवती को ढूढ़ने निकले शनिवार सुबह से शाम तक जंगल का छान मारे नहीं मिली। आज फिर सुबह पाँच बजे से गाँव के ग्रामीणों ने ढूढना शुरू किया तो सुबह सात बजे जंगल में बेहोशी की हालत में मिली।गाँव के ग्रामीणों ने युवती को उठा कर अस्पताल ले आये।

सूत्रों के अनुसार 14/9/18 को ग्राम पालनार में सफ्ताहिक बाजार लगता हैं। ग्राम समेली और ग्राम पालनार के C.R.P.F. केम्फ के जवान सड़क की सुरक्षा के नाम पर निकलते हैं और शाम तक सड़क किनारे जंगलों में रहते हैं।

गाँव के ग्रामीणों का यह भी कहना हैं कि 14/9/18, शुक्रवार को जिस जंगल में घटना हुआँ हैं, उस जंगल के आसपास C.R.P.F. के जवानों को घूमते हुए गांव के ग्रामीणों ने देखा हैं। घटना स्थल पर जूतों के निशान हैं, जूते पहन कर आदिवासी जंगल में नहीं घूमते हैं। युवती 16 वर्ष की है, माँ और पिता का कहना है। जिस जगह पे घटना हुआँ हैं उस जगह पर टूटे हुए चूड़ी भी मिले हैं।
F.I.R. कुआकोण्डा थाने में हुआँ हैं, किस नाम से रिपोर्ट हुआँ हैं अभी तक जानकारी में नहीं हैं। दन्तेवाड़ा जिला पुलिस मामले को दबाने में तुला हुआँ हैं। पुलिस S.D.O.P. धीरेंद्र कुमार का कहना हैं कि यह जाँच का विषय है। जाँच के नाम पर पुलिस गाँव के ग्रामीणों व परिजनों को दबाव डालेंगी और कहेंगी की C.R.P.F. के जवानों ने कुछ नहीं किया गांव के ग्रामीण, परिजन, युवती झूठ बोल रहे हैं।

 

युवती अस्पताल में बेहोशी की हालात में हैं, डॉक्टर कह रहे हैं कि युवती की मृत्यु हो सकती हैं। डॉक्टरों ने युवती के नाजुकता को देखते हुए कुआकोण्डा अस्पताल से जिला दन्तेवाड़ा अस्पताल रिफर कर दिया गया हैं। पीड़ित युवती के साथ परिजन है। पीड़ित युवती के साथ बस्तर की सामाजिक कार्यकर्ता सोनी सोरी, गाँव के सरपंच संजय कुंजाम, आम आदमी पार्टी के दन्तेवाड़ा प्रत्याशी बल्लू भवानी, भूतपूर्व विधायक C.P.I. के नंदा राम सोरी, कटेकल्याण के ब्लाक अध्यक्ष चमन लाल कुंजाम , राष्ट्रीय काँग्रेस जिला दन्तेवाड़ा की विधायक देवती कर्मा के बेटे बन्टी कर्मा भी घटना की जायजा लेने जिला अस्पताल पहुँचे हुए हैं।

इस इलाके में पहले भी C.R.P.F. के जवानों द्वारा आदिवासी छात्राओं के साथ छेड़खानी का मामला सामने आया था। समेली मेरा मूल ग्राम हैं। इसी इलाके के C.R.P.F. केम्फ के जवानों ने मुझे जान से मारने की धमकी दिये थे। इस मामले से तो C.R.P.F. मुझसे और चिढ़ जाएंगे।

 

आज छत्तीसगढ़ राज्य के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह दन्तेवाड़ा जिले के बारसूर आये हुए हैं। क्या कोई इस घटना के विषय को लेकर रमन सिंह को पूछ सकता हैं। अपना जन संदेश पहुचाने के लिए रमन सिंह बस्तर नागरिकों को ट्रको, बसों, में भरकर लाया जा रहा हैं।
कुछ करो आदिवासियों आने वाले दिनों में आपकी नस्ल मिट जाएगी।

**

लिंगाराम कोडपी आदिवासी अंंचल में काम करने वाले स्वतंत्र पत्रकार है जो ग्राउंड रिपोर्ट करने के लिये जाने जाते है.

Related posts

सहारनपुर में 180 दलित परिवारों ने हिन्दू धर्म छोड़कर अपनाया बौद्घ धर्म, पढ़ें आखिर क्यों उठाया ये कदम

cgbasketwp

पोरियाहूर गाँव में मासूम बच्चें कुपोषण के शिकार । ज़िंदा रहने के लिए मासूम जिंदगियां रोजाना मौत से करती है एक-एक हाथ । : वीडियो रिपोर्ट ,राजेश हालदार .

News Desk

तेलतुम्बडे की गिरफ्तारी का क्या आशय कि लोकतंत्र बचा हुआ है ःः उत्तम कुमार, संपादक दक्षिण कोसल

News Desk