Uncategorized आंदोलन औद्योगिकीकरण जल जंगल ज़मीन मानव अधिकार राजनीति

टाटा द्वारा अधिग्रहित जमीन के खिलाफ आदिवासी महसभा का दस दिन से धरना ,आज प्रदर्शन और दिया ज्ञापन , बडे आंदोलन की चेतावनी./ जगदलपुर 

 

**
11.02.2018
जगदलपुर 

जमीन वापसी की मांग को लेकर पिछले दस दिन से आंदोलन कर रहे आदिवासी का धरना आज दसवें दिन भी जारी रहा, उनका कहना है कि यदि प्रधाधन उनके पास चर्चा के लिये नहीं आ सकता तो हम वहां जाने को तैयार हैं लेकिन प्रशाशन चर्चा करना ही नही चाहता .
आज दसवें दिन ग्रामीणो ने शहर में रैली निकाल के कलेक्टर को ज्ञापन दिया जिसमें माँग की गई कि 10 गांवों मे जिनकी जमीन टाटा ने अधिग्रहित की है वह वापस की जावे और किसानों के खाते मे दर्ज की जावे .मवाली भाठा और बुरूंगपाल की आठ सौ एकड जमीन किसानों को वापस की जाये.और सबसे बडी बात कि जमीनों के अधिग्रहण ,क्रय विक्रय में ग्राम सभा की सहभागिता और सहमति अनिवार्य हो.
आदिवासी महासभा के अध्यक्ष हिरमू मंडावी ने कहा कि यदि शासन उनकी मांग पर विचार भी नही करता तो वे आंदोलन को तेज करेंगे .
इसके पहले विपक्षी दल टाटा प्रभावितों की लड़ाई की बात भले ही करते हों लेकिन उनमें से कोई भी आंदोलन में नही पहुचा ,.
लेकिन ग्रामीणो का आंदोलन लगातार जारी है.
शभुराम मौर्य ,कुषल नाग ,सेलो भरद्वाज ,टंकरू राम नाग ,चमरू राम ,सुदू राम बधेल सुकुलबाई ,लक्ष्मींन बाई कशयप ,पुरबा बघेल, लक्षिम कश्यप आदि बडी़ संख्या में लोग बैठे हैं।

**

Related posts

SC + ST + OBC + Minorities संयुक्त मोर्चा छत्तीसगढ़ के तत्वाधान में / कठुआ और उन्नाव गैंग रैप के विरोध में प्रतिरोध मार्च

News Desk

इलाहबाद : ये हर तरफ खुदा-खुदा क्यों है ? : सीमा आज़ाद

News Desk

शांति का रास्ता ही दूसरा है

cgbasketwp