औद्योगिकीकरण जल जंगल ज़मीन प्राकृतिक संसाधन

एनटीपीसी सीपत:नाले का पानी करो उपयोग , बांध का पानी किसानों के लिए छोड़ो , नहीं तो बंद करा देंगे. कवासी लखमा की खरी खरी चेतावनी .

दिए सख्त निर्देशः उद्योग मंत्री लखमा ने किया एनटीपीसी सीपत का निरीक्षण

नाले का पानी करो उपयोग , बांध का पानी किसानों के लिए छोड़ो , नहीं तो बंद करा देंगे

बिलासपुर . उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने सोमवार को सुबह 11 बजे नेशनल थर्मल पावर कार्पोरेशन ( एनटीपीसी ) सीपत के प्लांट निरीक्षण किया इसके बाद एनटीपीसी के जीएम , विधायक शैलेश पाण्डेय , जिलाध्यक्ष विजय केशरवानी के साथ बैठक ली जिसमें स्टाफ की जानकारी , कितना जमीन अधिग्रहण किया गया था कितने रोजगार दिया गया और कितने को मुआवजा नहीं मिल पाया है ।

उद्योग मंत्री ने एनटीपीसी जीएम को निर्देश दिया कि बिलासपुर के नाले का पानी का उपयोग करें बांध का पानी किसानों के लिए छोड़ें । यदि ऐसा नहीं किया और जरूरत पड़ी तो पानी देना बंद करा सकता हूं । उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने एनटीपीसी के प्लांट निरीक्षण किया उन्होने जीएम ने कहा राखड़ का क्या उपयोग करते हो तब उन्होने बताया फ्लाईएश के लिए फ्री दिया जाता है । यहां कितने लोग काम करते हैं तो बताया गया कि कुल 900 लोग काम करते हैं , इसमें 600 स्थानीय को काम देना है जिसमें से 244 लोगों को काम नहीं मिल पाया है ।

मंत्री ने एनजीटी निर्देश का कड़ाई से पालन करने निर्देश दिए । एनटीपीसी ने जीएम ने कहा कि जल्द ही सन 2022 तक प्लांट लगा लिया जाएगा । लखमा ने कहा स्थानीय जनप्रतिनिधियों की शिकायत है कि उनका कोई काम नहीं करते हो । सीएसआर मद का उपयोग कहां कहां किया जाता है इसकी जानकारी मांगी है । उन्होने जीएम से कहा जिसकी जमीन गई है उसे रोजगार देना अनिवार्य है । निरीक्षण के दौरान पूर्व विधायक दिलीप लहरिया , पार्षद दल के प्रवक्ता शैलेन्द्र जायसवाल , अजय सिंह , सुधांशु मिश्रा , अरविंद शुक्ला जवाला प्रसाद चतुर्वेदी सहित अन्य लोग उपस्थित थे ।

मंत्री की बात नहीं मानी पड़ गया महंगा

सीएसआईडीसी के प्रभारी प्रबंधक पीसी पट्टा को पिछले दिनों सिरगिट्टी , तिफरा क्षेत्र सहित अन्य जगहों की उद्योग के लिए दी गई जमीन का उद्योगपतियों द्वारादूसरा उपयोगकरने की शिकायत की गई थी । जिसकी जांच करने का निर्देश दिया गया था लेकिन पट्टा ने जांच ही शुरू नहीं किया था । जिसके कारण मंत्री ने पट्टा का तबादला रायगढ़ कर दिया है । लोग यह भी कह रहे हैं कि पट्टा का तबादला किया गया है या उन्हें मलाईदार जगह भेजा गया है क्योंकि रायगढ़ में सबसे ज्यादा उद्योग हैं ।

रमन को प्राथमिकता में उद्योगपति थे , भूपेश की प्राथमिकता में किसान है

एनटीपीसी का निरीक्षण करने के बाद प्रेस से बातचीत के दौरान उद्योग मंत्री कवासी लखमा ने कहा हमारी सरकार किसानों के लिए काम कर रही है । पूर्व सीएम रमन सिंह उद्योगपतियों को प्राथमिकता देतेथे लेकिन भूपेशबघेल किसानों को प्राथमिकता देते हैं । किसी उद्योग को बंद कराना हमारी प्राथमिकता नहीं है । लेकिन हमारी जमीन में उद्योगलगा है तो बरोजगारो को रोजगार दिलाना हमारी प्रामिकत है । उन्होने कहा छग में उद्योग इसलिए बदनाम हैं क्योंकि जमीन पानी देने के बाद लोगों को कोई फायदानहीं मिलत है ।

मैने एनटीपीसी के जीएम से कह है बांध का पानी किसानों के लिए एनटीपीसी के लिए बिलासपुर के नाले का पानी जो वेस्ट हो जाता है उसक उपयोग करें अगर नहीं किया तो मैं इसके लिए लड़ाई लडूंगा । उन्होनेकह मैं सरकार में नहीं था तब भी लोगो के लिए लड़ाई लड़ा , सरकार में हूँ तबा भी लोगों के लिए लड़ाई लडूंगा यदि नाले का पानी उपयोग नहीं किया तो पानी बंद करा दूंगा ।

पत्रिका बिलासपुर से आभार सहित

Related posts

भू राजस्व संहिता में संशोधन का निर्णय आदिवासी, किसान विरोधी हैं इसे शीघ्र वापिस लिया जाए , छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन.

News Desk

? जन आन्दोलन पर बड़ते राजकीय दमन के खिलाफ कनवेंशन . 31 अक्टूबर, 2018, रायपुर, छत्तीसगढ़.

News Desk

अदानी : कोलवाशरी का गंदा प्रदूषित पानी सीधे अटेम और हसदेव नदी में.

News Desk