अभिव्यक्ति आंदोलन कला साहित्य एवं संस्कृति राजनीति

जब भी बोलता झूठ बोलता .. नहीं चहिये  ..नहीं चहिये ऐसा मोदी नहीं चहिये .. राजकुमार सोनी और साथियों का जन गीत ..

नमस्कार

आपको दो गीत भेज रहा हूं। यह दोनों गीत देश की उस जनता को समर्पित है जिसका भरोसा संविधान और लोकतंत्र पर कायम हैं। अगर मोदी भक्त भी खुद को उस जनता में शामिल मानते हैं तो उनका स्वागत हैं। वे भी इन गीतों को सुनने की जहमत उठा सकते हैं। गाने को सुनने के लिए ईयरफोन का इस्तेमाल करेंगे तो आपको अच्छा लगेगा… मुझे भी खुशी होगी। चूंकि मैं न तो भक्त हूं और न ही अंधभक्त… इसलिए माफ करिएगा… तर्क और विज्ञान से परे किसी भी तरह की बेमतलब सी समय खराब करने वाली टिप्पणियों का जवाब नहीं दे पाऊंगा। दुनिया में अभी और भी बहुत से काम बाकी है।

बस… इतना ही कहना है कि यह दोनों गीत थोड़े से तकनीकी संशोधन के साथ एक तानाशाह के डर- भय और आंतक के खिलाफ हस्तक्षेप हैं।

सुनिए… और अच्छा लगे तो अपने हम ख्याल दोस्तों को भी फारवर्ड करिए…। आपको हम ख्याल मानता हूं इसलिए इन गीतों को भेजा है।

इस मौके पर कवि उदय प्रकाश की एक कविता भी याद आ रही है-

आदमी मरने के बाद
कुछ नहीं सोचता.

आदमी मरने के बाद
कुछ नहीं बोलता.

कुछ नहीं सोचने
और कुछ नहीं बोलने पर
आदमी मर जाता है.

राजकुमार सोनी
9826895207

राजकुमार सोनी मूलतः पत्रकार है , और वे गीतकार भी है. विधानसभा चुनाव के समय उनका गीत चाऊर वाले बाबा दारू वाले बाबा ने धूम मचा दी थी  .

अब सोनी और कोरस भिलाई के कलाकारों ने अभी दो गीत तैयार किये है.उनमें से दूसरा   जब भी बोलता झूठ बोलता .. नहीं चहिये  ..नहीं चहिये एसा मोदी नहीं चहिये ..

प्रस्तुत है .

इस गाने को नाट्य संस्था कोरस भिलाई के साथी जय प्रकाश नायर, संतोष बंजारा, जावेद और अमित के साथ मिलकर गाया है. ईयरफोन लगाकर सुनिए यह गीत… शायद आपको अच्छा लगे. गाना सुनकर .

 

 

Related posts

मेहुल चोकसी समेत 50 डिफॉल्टरों का कर्ज आरबीआई ने माफ़ कर दिया है

Anuj Shrivastava

अदानी के साथ मिलकर प्रशासन ने जनसुनवाई का उड़ाया मज़ाक ,कम्पनी ने सुबह से अपने फर्जी लोगो को लेकर सुनवाई को जाम करवाया .दूसरे गांवों से लोगो को खड़े किया लाईन में . तारा ओपन कास्ट .

News Desk

समीक्षा ःःबचा  रह जायेगा बस्तर: बस्तर के जन जीवन की चिंता.: अजय चंन्द्रवंशी 

News Desk