औद्योगिकीकरण जल जंगल ज़मीन नीतियां पर्यावरण

छत्तीसगढ़ के पांच कोयला खदानों की नीलामी की तैयारी .

केंद्र सरकार ने शुरू की देश की 27 खदानों की नीलामी और 15 के आवंटन की प्रक्रिया.

रायपुरा नईदुनिया , राज्य ब्यूरो

कोयला मंत्रालय छत्तीसगढ़ कोयला खदानों नीलामी ।

साथ ही पांच कोयला खदानों आवंटन की प्रक्रिया की है । की इन 10 के साथ की 32 समेत 42 खदानों की नीलामी आवंटन तैयारी में है । इनमें सबसे ज्यादा झारखंड मंत्रालय ने इसकी प्रक्रिया शुरू कर सितंबर तक चलेगी ।

की जिन पांच कोयला खदानों के लिए बोली लगेगी उसमें सोनडीहा जिले गारे पालमा 4 / 1 , शंकरपुर भटगांव विस्तार और एमपी लगी उर्तन नाथ
सालाना 70 मिलियन टन उत्पादन मंत्रालय के अनुसार इन 42 खदानों में से 27 खदान गैर विनियमित क्षेत्र के इस्तेमाल लोहा एवं इस्पात उद्योग के लिए 6 कोकिंग कोल खदानों की नीलामी होंगी । पांच कोल ब्लॉक बिजली कोयला विक्रय और एक लोहा एवं इस्पात उद्योग के लिए आवंटित की जाएगी । इन 42 कोयला खदाना से प्रतिवर्ष जाएगी । इन 42 कोयला खदानों से प्रतिवर्ष अधिकतम 70 मिलियन टन कोयले का उत्पादन होगा । शामिल ।

इसके साथ ही दुर्गापुर तरइमार दुर्गापुर 2 / सरिया ,बंगाल और मध्यप्रदेश की दो – दो खदानों नीलामी होगी । सरिया स्यांग पांचबहानी ,मोरगा 3 खदानों आवंटन किया जाएगा ।

किस राज्य में कितनी खदानों की आवंटन और बोली झारखंड की आठ खदानों की बोली लगेगी और छह आवंटन होगा ओडिशा में दो आवंटन होगा , की नीलामी महाराष्ट्र की एकखदानका आवंटन और नौ की नीलामी खदानका आवंटन होगा ।

खदानों की नीलामी आवंटन के बाद होगी बाकी प्रक्रिया .

खनिज विभाग के अफसरों के अनुसार फिलहाल सर्व आदि के आधार पर कॉल की गई है । वहां से संभावित का अंदाजा भी लगा लिया गया है । इसके अलावा अन्य कोई
होगी बाकी प्रक्रिया प्रक्रिया नहीं हुई है । नीलामी और बाद आवश्यकतानुसार ग्रामसभा एवं पर्यावरण मंत्रालय की अनुमति अलावा जमीन अधिग्रहण आदि प्रक्रिया होगी ।

**

Related posts

अनशन का सातवां दिन आज, मेधा पाटेकर की बिगड़ी तबियत

News Desk

तमिलनाडु में स्टरलाईट कंपनी के विरोध में आन्दोलनरत लोगों पर गोली चलाना, राज्य के क्रूर और बर्बर चरित्र को उजागर करता हैं. :  कार्पोरेट की असीमित लुट के लिए अपने ही नागरिकों को मार रही हैं सरकारें  ;.छतीसगढ बचाओ आदोलन 

News Desk

रावघाट परियोजना : बस्तर में सरकारी दमन के शिकार आदिवासी किसान, पटरी से बलपूर्वक हटाये गये आंदोलनकारी .

News Desk