आंदोलन दलित

गुरुघासीदास सेवादार संघ (GSS) गिरौदपुरी में जो घटनाक्रम हुआ हैं उसकी सीघ्र निंदा की और चर्चा के लिये बुलाई बैठक ,बिलासपुर में 25 फरवरी को.


23.02.2018
बिलासपुर

गुरुघासीदास सेवादार संघ (GSS) गिरौदपुरी में जो घटनाक्रम हुआ हैं उसकी सीघ्र निंदा करते हुये, हम शुरू से हमारी जो मांग है कि गुरुघासीदास प्रवर्तित सतनाम धर्म का स्थल का कानून बनना चाहिए इस मांग को उठाते रहा है।

GSS एक मात्र ऐसी संस्था है जो इस कानून की पहलकदमी कर रही हैं,और कोई ऐसी संस्था इस कानून कि पहलकदमी नहीं कर रही है।लेकिन खुशी कि बात ये है कि हमारे भाईयों ने इस घटना पे दुःख आक्रोश जताया है और इस दुःख आक्रोश को हम भी महशुस कर रहें हैं और हम ये चाहते है जितने भी लोग इस तरह के जो स्थिति सतनामी मुखिया ठेकेदार बने हुए लोग अपने सामन्ती प्रभुओं के इशारे पर घटना किये करवाये जा रहें हैं ,यह सामान्य भूल-चूक नही जान बूझकर मेला स्थलों में घटना करवाया जा रहा है।ताकि गिरौदपुरी धर्म धाम में अपनी सामंती व्यवस्थाओं को सुचारू रूप से जारी रखें,इस प्रकार की स्थितियों से उबरकर हम ,आप,सब ही कोई अंतिम विकल्प क्या होगा❓

इसके लिये 25/02/2018 तारीख दिन रविवार बिलासपुर में उपरोक्त ऊपर बताए स्थान पर एक केंद्रीय स्तर मीटिंग बुला रहें है,हम आप सब मिलकर विकल्प चाहते है।जिसमें आप सभी साथयों को आमंत्रित करते हैं, आप सभी समाज के बेहतरी के लिए आईये अपना विचार-विकल्प बताईये, GSS भी अपना विकल्प विचार सबके सामने रखेंगे! क्योंकि आपका हमारा सबका एक उचित रॉय मसूवरा समाज मे इस तरीके की जो स्थिति बनाया किया जा रहा है उसकी निदान के लिए आपके पास भी विचार विकल्प है और हमारे पास भी बेहतरी विचार विकल्प हो सकते है इस पर हमें ही एक विचार विकल्प निकालनी होंगी क्योंकि हम भी चिंता से दुःख जाहिर कर रहे है हम आपके इस चिंता के समर्थक है मिल बैठकर हम एक रास्ता बनाये विकल्प तलाशे .

क्या किसी अन्य धर्म स्थलों में प्रबंध की इतनी खराब स्थिति है,जितनी सतनाम धर्म स्थलों की हैं, इसके लिए कोई दूरबीन की जरूरत नहीं हैं ।सीधे खुली आँखों से देखा जा सकता है इस तरह की घटनाओं से किसके हित प्रभावित हो रहा है।इसके पीछे कौन हैं❓

हमारी धर्म स्थलों का सही विकल्प सही व्यवस्था क्या होना चाहिये? आज के समय मे हमारी सामाजिक- धार्मिक ,आर्थिक स्थिति कैसी हो?राजीनीति में कोई स्वतंत्र केंद्रीय नेतृत्व नही है सिर्फ पिछलग्गु की भूमिका में हैं।इन तमाम स्थितियों पर हमारी आपकी सही विकल्प क्या होना चाहिए? मिलकर हम आप विकल्प की पहलकदमी करेंगे।

अभी यह मीटिंग एक होकर सोच विचार कर विकल्प तलासने का है ,फिर हम चाहते है कि यह मीटिंग में हमारा आपका प्रयास कारगार रहा तो इस मीटिंग के बाद उन इलाकों में भी इस मसले को लेकर केन्द्रीय बैठक आयोजन जगह-जगह किया जायेगा हम चाहते है कि आपका हमारा आपका प्रयास समाज के लिए बेहतर प्रबंध हो इसके लिए हम आप कॉन्टेक्ट बनाये रखें आपसे आपस मे बात हो इसके .


**

गुरुघासीदास सेवादार संघ(GSS) के तत्वाधान में ,25 फरवरी 2018 रविवार दोप.12 बजे से शाम 5 बजे तक, स्थान-सामुदायिक भवन चंदेला विहार कॉलोनी,रिंगरोड no.02 ,जरहाभांठा बिलासपुर ( छत्तीसगढ़)।

Related posts

मत-विमत

News Desk

रमन सरकार समस्याओं को हल करने के बजाय विकास व तरक्की का ढिंढोरा पीट रही है — भाकपा-माले, लिबरेशन

News Desk

सुधा भारद्धाज : जिनके त्याग और संघर्ष की मै कायल हूंं. : प्रियंका

News Desk