आदिवासी आंदोलन कला साहित्य एवं संस्कृति दलित दस्तावेज़ राजनीति

गिरौधपुरी से सोनाखान की एतिहासिक मैत्रीयात्रा 17 फरवरी को . मनुवादियों  के खिलाफ एक जनवादी साझा संघर्ष ,एतिहासिक सच्चाइयों की स्थापना फैलाये गये झूठ के खिलाफ़ः गुरू घासीदास सेवा संघ का गंभीर प्रयास . 

बिलासपुर 15.02.2019

गुरू धासीदास सेवादार संध तथा छत्तीसगढ़ के अन्य जन संगठन 17 फरवरी को गुरू घासीदास के जन्म स्थल गिरौधपुरी से एक मैत्री यात्रा का आयोजन कर रहे है .जीएसस के केन्द्रीय संगठक लखन लाल कुर्रे सुबोध ने बताया कि यह यात्रा इस यात्रा का मकसद मनुवादियों के खिलाफ एक जनवादी साझा संघर्ष करने का आह्वान करना है, जो कि पिछले कई वर्षों से किया जा रहा है. सतनामियों में और आदिवासियों में राजनैतिक लाभ के लिये कत्रिम भेद पैदा किया जा रहा है जब कि आदिवासियों और दलितों के प्रणेताओं में बहुत मेलभाव और सहयोग हमेशा रहा है .
मनुवादियों ने षड़यंत्र पूर्वक समुदायों को एक दूसरे के खिलाफ खडा कर दिया है .

 

लखनलाल  कुर्रे सुबोध ,केन्दीय संयोजक .गुरू धासीदास सेवा संध.

 

केन्द्रीय संयोजक लखनलाल कुर्रे सुबोध ने स्पष्ट किया कि एतिहास से गडबडी की और यह हल्ला किया गया कि गुरू घासी दास और राजा राम राय में आपसी मैत्री एकता विकसित कर परस्पर भौतिक नैतिक समर्थन का एतिहासिक मिसाल कायम किये जिससे उनकी अगली पीढी अमर शहीद वीर नारायण सिंह अमर शहीद गुरू बालक दास ने आगे बढाया लेकिन लोक दमनकारियों ने षड्यंत्र पूर्वक साम दाम दंड़ भेद की नीति से पूरे आंदोलन को दिग्भ्रमित कर दिया .लोगो को शारीरक मानसिक गुलाम बनाकर इस पूरे समुदाय का दमन दोहन कर आपसी लूट झूठ बनाये रखने के लिये इतिहास के सत्य कहानी को ही पलट दिया.

लोक दमनकारीयों ने अपने चाटुकार लेखकों से यह झूठी कहानी लिखी की गुरू घासीदास को मारने पीटने व प्रताडित करने के लिये सोनाखान के राजा ने हर तरह के अत्याचार किये .यह झूठी कहानी लिखने और प्रचारित करने का मूल उद्देश्य है कि शोषिण समाज एक साथ खडा होकर इन मनुवादियों से संघर्ष न कर पाये .
हम सब मिलकर यह झूठी कहानी का पर्दाफाश करके दोनों समुदायों में एकता मित्रता और शांति का का काम करना चाहते है .

हमारा उद्देश्य सभी समाज और समुदायों में साझा समन्वय स्थापित करना है .गुरू घासीदास जी के वचनो और उद्देश्यों को सही संदर्भ में समाज के सामने प्रस्तुत करना हैं .

यह यात्रा लोगों के बीच में मैत्री तथा एकता विकसित कर परस्पर भौतिक, नैतिक समर्थन तथा सहयोग का विकास की संस्कृति खड़ी करना है.

समाज में जानबूझकर गलत एतिहासिक संदर्भों को स्थापित किया जा रहा है ,यह कहानी गढी गई कि राजा रामाराय के द्वारा गुरु घासीदास की हत्या की झूठी कहानी लिखी ग ईं और प्रचारित की गईं.जिससे समाज में वैमनस्य फैलाने की कोशिश कीगई .

इसी के चलते राजा रामाराय के पुत्र अमर शहीद वीर नारायण सिंह एवं गुरु घासीदास के पुत्र अमर शहीओद गुरु बालकदास ने आपसी मैत्री-एकता विकसित कर परस्पर भौतिक-नैतिक समर्थन, सहयोग का विकास कर ऐतिहासिक मिसाल फिर से कायम की थी।

ऐसी झूठी कहानियां कहने-बताने वाले आज भी समाज में यह जहर भर रहे हैं। दरअसल, इन लोगों का मकसद शोषित समाज के लोगों की एकता को तोड़ना, उन्हें जाति-बिरादरी के खेमे में बांटकर रखना है, ताकि इन मनुवादियों की सत्ता बरकरार रह सके.
यह यात्रा इस तरह के झूठे प्रचार के खिलाफ एक कोशिश है ताकि दोनों समाज समन्वय और प्यार से आगे बढ सकें और मनुवादियों के षडयंत्र से बाहर आ सकें.

यह मैत्री यात्रा गिरौदपुर से प्रातः 10:00 बजे से वाहन रैली के रूप में प्रारंभ होकर राजा रामाराय एवं वीर नारायण सिंह की ऐतिहासिक स्थली सोनाखान पहुंचेगी, राजा रामाराय और उनके पुत्र वीर नारायण सिंह वंशज राजेंद्र सिंह दीवान और कुंजल सिंह दीवान को मैत्री एकता एवं जनसंघर्ष के लिए तलवार भेंट करने के बाद जनसभा की जायेगी.

मैत्री यात्रा के आयोजन में प्रदेश के बडी संख्या में जनवादी सगठन , सामाजिक संगठन. साहित्यकार .लेखक और दलित आदिवासियों के प्रतिनिधि शामिल हो रहे है. रेला सांस्कृतिक ग्रुप के कलाकार जन सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत करेंगे .

जन सभा के सभापति गंगाधर वरिहा कुंजल सिंह दीवान ,वीर नारायण सिंह के वंशज ,दिनेश सतनाम ,राजिम तांडी ,हेमलता यादव ,अजय अनंत ,विभीषण पात्रे ,मदाल दास पैकरा और अधिवक्ता ए. आर. कांत करेंगे.

मैत्री यात्रा , जनसभा में जनमुक्ति मोर्चा (राजहरा, भिलाई) के गुहा नियोगी, छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन (रायपुर) के कार्यकर्ता आलोक शुक्ला, किसान सभा (बिलासपुर) के नंद कश्यप, दलित अधिकार अभियान (छत्तीसगढ़) के एडवोकेट ए.पी. जोशी, जन-चिंतक बी.सी. जाटव (रिटायर्ड एसबीआई अधिकारी), क्रांतिकारी सांस्कृतिक मंच (रायपुर) के कार्यकर्ता तुहिन के अलावा सैकड़ों लोग शामिल होंगे.   

**

Related posts

आज अरविंद केजरीवाल रायपुर मे : छतीसगढ में राजनैतिक सरगर्मी तेज : आप ने की पूरी तैयारियां ,एक लाख लोग जुटने का दावा .

News Desk

सार्वजनिक वित्तीय संस्थान और आत्मनिर्भर अर्थव्यवस्था पर भारत के लिये लोग मंच की.सेमीनार 13 को रायपुर में.

News Desk

इलेक्ट्रॉनिक युग की गहमागहमी में आंदोलन पढें पढाये की अद्भुत रचनात्मक पहल .ओपन पुस्तकालय की दूसरी कड़ी आज प्रारम्भ .

News Desk