आंदोलन औद्योगिकीकरण जल जंगल ज़मीन

खदान 13 का मामला : बयान दर्ज , कहा सीईओ के आदेश का पालन किया :एनसीएल परियोजना प्रबंधक ने कहा पेड़ कटाई से मेरा कोई लेना देना नहीं.

जमीन आवंटन में कथित ग्रामसभा का आरोप

पत्रिका न्यूज़

बचेली , नंदराज पर्वत एनएमडीसी खदान नंबर 13 के पेड़ कटाई मामले में मंगलवार को एनसीएल के परियोजना प्रबंधक अमित कुमार का लिखित बयान दर्ज किया गया । इसमें उन्होंने पेड़ कटाई मामले से अपना पल्ला झाड़ लिया है परियोजना प्रबंधक अमित कुमार के मुताबिक एनसीएल के सीईओ वीएस प्रभाकर के मौखिक निर्देशों का पालन करते हुए काम किया है । पेड़ कटाई से मेरा कोई लेना – देना नहीं मेरा काम सिविल का धीरे – धीरे मामले में रोचक खुलासे हो रहे है । अमित कुमार ने दावा किया है कि वो एनसीएल के नहीं बल्कि विनायक जॉब्स कंसल्टेंसी कंपनी के सिविल एक्जीक्यूटिव के पद पर कार्यरत थे । एनसीएल द्वारा कंस्ट्रक्शन वर्क का ठेका प्राप्त होने के बाद घड़यंत्र के तहत अस्थाई रूप से मुझे एनसीएल का परियोजना प्रबंधक बना दिया गया और एनसीएल के अधिकारी के निर्देशों का पालन करवाया गया ।

वहीं अमित कुमार के मुताबिक एनसीएल की थाना के लिए तीन लोग कार्यरत थे । पहला सीईओ व्हीएस प्रभाकर परियोजना प्रबंधक अमित कुमार और तीसरा माइनिंग इंजीनियर संतोष कुमार जिसे जांच से दूर रखा गया है ।

एनसीएल ने टेंडर जारी कर पेड़ों की कटाई का ठेका दिया था हाल ही में ठेकेदार ब्राके लाला के विषय में जानकारी मिली है । जबकि ठेकेदार विकास अग्रवाल गेट पास बनवाने मेरे पास आया था । इधर वन विभाग परियोजना प्रबंधक आमत कमार को भी अवैध पेड़ कटाई करवाने बराबर का दोषी मान रहा है । हालांकि अमित कुमार के बयान के बाद नए नाम सामने आए हैं जिनसे पूछताछ की बात अधिकारी कह रहे हैं .

आरआर पटेल , वन परिक्षेत्र आधकारी पूर्व में एनसीएल के अधिकारी और ठेकेदार के बयानों के आधार पर परियोजना प्रबंधक की संलिप्तता उजागर हुई थी । आज बयान दर्ज कर लिया गया है । माइनिंग इंजीनियर संतोष कुमार को भी बयान के लिए नोटिस जारी की जाएगी ।

जांच पर अब तक निर्णय नहीं , ठंडे बस्ते में डालने की तैयारी

इधर पखवाड़ा बीतने तक चली फर्जी ग्रामसभा के जांच मामले में विगत 29 जुलाई को बैंक मैनेजर और जनपद सीईओ का अंतिम व्यार बयान लेने के बाद जांच समिति ने चुप्पी साध ली है । जांच अधिकारी एसडीएम नूतम कंवर ने 25 जुलाई को दावा किया था कि जांच रिपोर्ट एक हफ्ते में सबके सामने आ जाएगी पर अब तक कोई भी निर्णय प्रशासन का सामने नहीं आया है । जांच अधिकारी की पदोन्नति कर दिया गया है जो जल्द ही सुकमा जिला पंचायत सीईओ का पदभार संभालेंगे ।

नूतन कंवर , एसडीएम दंतेवाड़ा जितने लोगों बयान हुए हैं उनकी रिपोर्ट बना बंद लिफाफे में प्रशासन को सौप देंगे बचे हुए लोगों के बयान के लिए कोई निदेईश उच्च अधिकारियों से नहीं मिला है । जैसा निर्देश मिलेगा आगे फिर वैसी कार्यवाही की जाएगी ।

Related posts

कांकेर : चाहचाड़ में बजरंग इस्पात की माइंस से चारागाह की जमीन बंजर हो रही हैं : माइंस प्रबंधन को उसी क्षेत्र में चारागाह उपलब्ध कराये . : देवलाल नरेटी ,आप

News Desk

बिलासपुर . अघोषित आपातकाल उससे भी बुरा .पूरे देश को विभाजित करने की कोशिश.देश की एकता ,लोकतंत्र और संविधान की रक्षा करने आगे आना ही होगा.

News Desk

 CITIZEN ‘ s APPEAL TO THE VOTERS:मतदाताओं से अपील .छत्तीसगढ़.DEFEAT BJP, SAVE DEMOCRACY,WE NEED JOB GUARANTEE,NOT COMMUNAL FRENZY!भाजपा हराओ लोकतंत्र बचाओ सांप्रदायिक उन्माद नहीं सुनिश्चित रोजगार चाहिए .

News Desk