छत्तीसगढ़ ट्रेंडिंग रायपुर शिक्षा-स्वास्थय

कोरोना रिकव्हरी: देश में छत्तीसगढ़ नंबर वन गुजरात सबसे पीछे

कल शाम रायपुर एम्स के नर्सिंग स्टाफ़ के कोरोना पोज़ितिवे होने की खबर ने लोगों को परेशान तो किया लेकिन आज दिन की शुरुआत आच्छी खबर से हुई है.

आज सुबह प्रदेश के कोरोना हॉटस्पॉट याने कटघोरा के 2 और मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है. दोनों की रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद आज उन्हें थोड़े देर में डिस्चार्ज कर दिया जाएगा। अब प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीज़ों की संख्या मात्र 5 रह गई है.

इसे लेकर एम्स रायपुर और बिलासपुर आईजी दीपांशु काबरा ने ट्वीट करते हुए जानकारी साझा की है। बता दें छत्तीसगढ़ में कुल कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 37 थी, जिनमे से अब तक 32 मरीज ठीक हो चुके है, और 5 मरीजो का इलाज एम्स में चल रहा है। आज ठीक हुए मरीजो में दोनों मरीज कटघोरा के हैं. अब एम्स में कटघोरा के 4 और रायपुर के एक मरीज का इलाज चल रहा है.

कोरोना रिकवरी में नंबर एक पर आया छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार कम हो रही है कोरोना संक्रमित मरीज़ों के ठीक होकर घर जाने की दर क्ग्गात्तिस्गढ़ में पूरे देश से ज़्यादा है.

छत्तीसगढ़ में अबतक कोरोना के 37 पोज़ितिवे मामले सामने आए जिनमें से 32 लोग पूरी तरह स्वस्थ होकर घर वापस चले गए हैं. प्रतिशत के के उप में देखें तो तो छत्तीसगढ़ का रिकवरी प्रतिशत 86.48 होता है जो पूरे देश में सबसे ज़्यादा है. प्रदेश में अब तक किसी मरीज़ की मृत्यु नहीं हुई है.

कोरोना रिकवरी में गुजरात सबसे फिसड्डी

पिछले कुछ चुनावों के दौरान देश में गुजरात मॉडल की खूब हवा उडी थी. लेकिन से लड़ने में गुजरात मौडल फिसड्डी साबित हुआ है. यहाँ अब तक 2624 कोरोना संक्रमित मरीजों की पहचान की गई जिनमें से मात्र 258 ही रिकव्हर कर पाए. प्रतिशत में देखें तो ये केवल 9.83% होता है जो देश में सबसे कम है. गुजरात में कोरोना संक्रमण से अबतक 112 मौतें हो चुकी हैं.

देशभर के आंकड़ों की झलक

छत्तीसगढ़ की प्रतिष्ठित न्यूज़ वेबसाईट सीजी खबर कोरोना से जुड़े देशभर केआंकड़े प्रकाशित किए हैं. उन्हीं आंकड़ों को अपडेट करके हम अपने पाठकों के लिए प्रस्तुत कर रहे हैं

Related posts

योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में चल रहे जंगल राज और तानाशाही का विरोध

बिलासपुर , सिम्स में आगजनी से हुई मौतों के खिलाफ ः सामाजिक कार्यकर्ता प्रियंका शुक्ला ने धरने पर बेठने की घोषणा .

News Desk

बाल विवाह जैसी सामाजिक कुरीति खत्म होना चाहिए

News Desk