औद्योगिकीकरण भृष्टाचार

कोरबा में कोयले के अवैध खनन, स्टोरेज, ट्रांसपोर्ट आदि पर भूपेश सरकार ने की बड़ी कार्यवाही .

पिछले दो दशकों में SECL की खदानों में सभी कार्य ACB कंपनी द्वारा किये जा रहे हैं। ACB ने कई अलग अलग नाम से कंपनियां बनाकर कोल बाशरी, पावर प्लांट लगाए हैं। एक तरीके से कह सकते हैं कि सिर्फ नाम SECL हैं कब्जा पूरा ACB समूह का हैं। कानूनों की धज्जियाँ उड़ाकर पर्यावरण के विनाश के साथ कार्य करना इन कंपनियों ने अपना अधिकार समझ लिया हैं। और उनको संरक्षण भी शासन प्रशासन से मिलता हैं।

कोरबा में 135 लोगों की टीम ने की छापेमारी : काँटाघर कोलवाशरी सील बड़े पैमाने पर मिली अनियमितताएं, देर रात तक होती रही छानबीन

एसीबी इंडिया और स्वास्तिक पॉवर के खिलाफ बड़ी कार्यवाई, पकड़ी 52 गाड़ियां, 2लाख टन की थी अनुमति 10 लाख टन कोयला मिला

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

कोरबा / रायपुर . राज्य सरकार द्वारा कोरबा में कोयले के परिवहन और कोलवाशरी की जांच के लिए अचानक की गई छापेमारी में घोर अनियमिताएं सामने आई हैं । इस छापेमारी में छत्तीसगढ़ और हरियाणा के एक मीडिया समूह द्वारा संचालित एसीबी इंडिया के खिलाफ अनियमितताओं के ठोस सुबूत मिले हैं । इस छापेमारी में बिना ट्रांजिट के कोयला परिवहन करते अलग – अलग स्थानों से 52 गाड़ियों को पकड़ा गया था । चाकाबुड़ा स्थित कोल वाशरी से बिना ट्रांजिट पास रेलवे साइडिंग तक कोयला परिवहन करते कई गाड़ियों को पकड़ा गया । टीम ने चाकाबुड़ा कोलवाशरी के कांटाघर को भी सील कर दिया है । गौरतलब है कि कोरबा में 9 कोलवाशरीज है , जिनमें से 7 एक ही कंपनी की हैं , लेकिन यह सभी अलग – अलग नामों से जानी जाती हैं । कनबेरी के स्वास्तिक पॉवर में भी छापेमारी हुई है । जिस टीम द्वारा यह कार्रवाई की जा रही है , उसमें 100 से ज्यादा पुलिसकर्मी व कई विभागों के दो दर्जन अधिकारी हैं । राज्य सरकार की उड़नदस्ता टीम ने भी प्रशासन के साथ मिलकर दीपका खदान के 16 नंबर कांटे को सील कर दिया है । छापे में 10 लाख टन कोयला मिला जबकि अनुमति 2 लाख टन की थी ।

खनन , राजस्व और पर्यावरण की संयुक्त टीम की छापेमारी :

कोयले की खदानों में हो रहे घोटालों की शिकायत पर जांच करने शनिवार को माइनिंग , राजस्व और पर्यावरण विभाग की टीम शनिवार को गेवरा दीपका पहुंची । टीम उस वक्त अवाक रह गई , जब साउथ ईस्टर्न कोल लिमिटेड के दीपका खदान के कांटाघर पर एसईसीएल के कर्मचारियों की जगह निजी कंपनी के मजदूर कोयला तौलते पकडे गए । उनके पास से कोयला परिवहन के लिए जरूरी ट्रांजिट पास भी मिला । गेवरा दीपका में सुबह 11 बजे से चालू हुई टीम की कार्रवाई देर शाम तक जारी । टीम ने कोयला परिवहन से संबंधित कई गड़बड़ियों को पकड़ा है । सबूत जुटाकर आगे की कार्रवाई करने की बात कही है । कुसमुंडा खदान भी निजी कंपनी को कोयला परिवहन करने वाली गाड़ियों को रोका गया है । गाड़ियों को पहले कुसमुंडा खदान में खड़ा किया । जगह की कमी पड़ने पर कुसमुंडा हेलीपेड पर गाड़ियां खड़ी की गई हैं । समाचार लिखे जाने तक छापे की कार्रवाई जारी है ।

छापे में मिली ये अनियमितता

1.दो लाख टन कोयले का स्टाक रखने की अनुमति थी , लेकिन मौके पर 10 लाख टन कोयला मिला ।

2.कंपनियों द्वारा बिना सरकारी ट्रांजिट यानि खनिज अभिवहन शुल्क चुकाए भारी वाहनों से कोयले की ढुलाई की जा रही थी । इससे होने वाले नुकसान का अनुमान लगाया जा रहा है । यह कई करोड़ हो सकता है ।

3.कंपनी की कोलवाशरी में प्रतिबंधित जल स्रोतों का इस्तेमाल । किया जा रहा था । कई जगह पर बोरिंग भी सील की गई है ।

4.समूचे खनन क्षेत्र में पर्यावरण नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही थी ।

5.एसईसीएल की खदान में जिस जगह वाहनों का वजन लिया जाता है , वहां अपने कर्मचारी तैनात कर दिए गए थे ।

वास्तविक का नलकूप सील

टीम ने कनबेरी स्थित स्वास्तिक पॉवर में भी छापामार कार्रवाई की । एक नलकूप को सील कर दिया है । जानकारी दी गई कि विविध कोलवाशरियों में स्टाक परीक्षण भी किया जा रहा है । टीम में खनिज विभाग के 12 , राजस्व विभाग के 17 , पर्यावरण संरक्षण मंडल के आधा दर्जन से अधिक अधिकारी कर्मचारी । शामिल हैं । कार्रवाई में औद्योगिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा विभाग को भी शामिल किया गया है । कार्रवाई का नेतृत्व माइनिंग के ज्वाइंट डायरेक्टर महेश बाबू कर रहे हैं । टीम पर्यावरण के मानक , कोयले के भंडारण की क्षमता , जल उपयोगिता और खनिज नियमों के पालन की जांच कर रही है ।

यह कार्रवाई निरंतर जारी है । हम देर रात तक बताने की स्थिति में होंगे कि क्या – क्या अनियमितताएं मिली है । किरण कौशल , कलक्टर , कोरबा

कार्रवाई के लिए सुरक्षा मांगी गई थी । टीम को सुरक्षा मुहैया कराई गई है । कार्रवाई चल रही है ।

जितेन्द्र सिंह मीणा , एसपी , कोरबा

Related posts

नगरनार स्टील प्लांट के निरीक्षण के लिये पहुची हैं कोरियाई कंपनी टीम .मजदूर संगठनों ने घेरा . चार घंटे कमरे में बंधक रही पास्को की टीम .

News Desk

लाल गलियारे से… विमोचन में जनसमुदाय की जबरदस्त मौजूदगी .

News Desk

छत्तीसगढ़: कमर्शियल प्रोजेक्ट के लिए 600 से ज़्यादा परिवारों को सड़क पर फेक दिया सरकार ने, देखिए लाईव वीडियो

Anuj Shrivastava