आंदोलन औद्योगिकीकरण किसान आंदोलन मजदूर राजनीति शासकीय दमन

कोरबा : पीड़ित ,विस्थापित किसान पदयात्रा 26 को :दीपका से कलेक्ट्रेड तक पदयात्रा कर मुख्यमंत्री तक पहुंचाएंगे अपना सन्देश.

25.02.2019 /कोरबा 

ग्राम स्तर की बैठकों में मिल रहा भारी समर्थन

आद्योगिक नगरी कोरबा जिला अंतर्गत कोयला खदानों एवं उसके अंतर्गत संचालित कोलवाशरी , एनटीपीसी ,सीएसईबी , बालको ,देबू पावर , वंदना ,लैंको-अमरकंटक, बाँध परियोजनाओं , रेल कॉरिडोर, हाइवे ,आदि से प्रभावित होने वाले पीड़ित विस्थापित एवं पुनर्वास गाँवों से जुडी हुई समस्या तथा वनाधिकार मान्यता कानून के तहत काबिजो को पट्टा की मांग को लेकर आगामी 26 फरवरी को पुनर्वास ग्राम गंगा नगर से कलेक्ट्रेड तक विशाल पदयात्रा का आव्हान किया गया है । इस पदयात्रा को सफल बनाने के लिए लगातार ग्राम स्तर की सभाएं और बैठक में ग्रामीणों का भरपूर समर्थन मिल रहा है 

पदयात्रा की तैयारी को लेकर सपुरन कुलदीप ने बताया कि विगत 2 फरवरी को गंगा नगर में प्रभावितों का महासम्मेलन आयोजित कर सर्वसम्मति से 12 सूत्रीय मांग पर पहले चरण में कलेक्ट्रेड और वहां पर सकारात्मक प्रतियुत्तर नहीं मिलने पर छत्तीसगढ़ सीएम के बंगले तक पदयात्रा करने का प्रस्ताव पारित किया गया है । 26 फरवरी की पदयात्रा को कामयाब बनाने के लिए अलग-अलग मंच और संगठन के माध्यम से सबंधित मांगो पर आंदोलनरत लोंगो से समर्थन की अपील किया गया है और सभी प्रभावित ग्रामो में ग्रामीणों के साथ बैठक का दौर चलाया जा रहा है । इन बैठकों में लोंगो का भरपूर समर्थन मिल रहा है । उन्होंने बताया कि 1960 की दशक से आज तक जमीन अधिग्रहण और उसके कारण रोजगार ,मुआवजा और पुनर्वास जैसी बुनयादी अधिकारों से वंचितो को न्याय दिलाने के साथ-साथ उनकी समुचित विकास के लिए संघर्ष को मजबूत करने का प्रयास किया जा रहा है ।

इसी के साथ वर्षो पूर्व कोयला खदानों सहित दूसरे संस्थानों के लिए बेवजह जमा जमीन की वापसी , काबिजो को जमीन का पट्टा, 30 साल से लंबित रोजगार के मामले का त्वरित निराकरण करने , भुविस्थापतो और स्थानीय निवासियो के लिए शिक्षा स्वास्थ,रोजगार में प्राथमिकता देने,वैकलिपक रोजगार की व्यवस्था करने , वनाधिकार मान्यता कानून का सही सही पालन करने , जिला खनिज न्यास राशि का प्रत्यक्ष प्रभावित ग्रामो में ही खर्च करने आदि की मांग को इस आंदोलन में शामिल किया गया है । उन्होंने समाज के सभी वर्ग के लोंगो से पदयात्रा में शामिल होने और अपनी मांगों को शासन- प्रशासन के समक्ष रखने का आव्हान किया है । यह पदयात्रा एसईसीएल गेवरा दीपका अंतर्गत पुनर्वास ग्राम गंगा नगर से 26 फरवरी को सुबह 8 बजे आरम्भ होगी जो की लगभग 12 बजे कोरबा कलेक्टर कार्यालय के समक्ष पहुंचकर प्रदर्शन करके मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौपी जायेगी .

**

Related posts

दस्तावेज़ ः इप्टा का राष्ट्रीय प्लैटिनम जुबली समारोह 27 से 31 अक्टूबर 2018 को बिहार के पटना ः विस्तृत रिपोर्ट .

News Desk

अगस्‍त क्रांति से शुरू हुई थी अंग्रेजों की वापसी की उल्टी गिनती, जानें कैसे हुआ मुमकिन .

News Desk

नफ़रत के ख़िलाफ़ – छत्तीसगढ़ की आवाज, आज रायपुर में .

News Desk