आंदोलन जल जंगल ज़मीन पर्यावरण

कोयलीबेड़ा ,वन सुरक्षा समिति सुलंगी की अनूठी पहल .

नियत श्रीवास


कोयलीबेड़ा। अपने गांव के वनक्षेत्र को बचाने जा बीड़ा उठाया वन सुरक्षा समिति ने। गतवर्ष से अवैध रूप में जंगल मे कास्तकारी कर रहे सचिव को पहले गाँव वालों ने चेताया व जँगल को नही उजाड़ने की चेतावनी दी जिस पर लिखित राजी देने के बाद भी कास्तकारी इस वर्ष भी जारी रखने पर वन सुरक्षा समिति व पूरे सुलंगी के ग्रामीणों ने पहले तो जंगल मे फसल को मवेशियों से चरा दिया व गड्ढे खोदकर 5 हजार से अधिक पौधे रोप दिए व वनों को नुकसान पहुंचाने वालों के खिलाफ कार्यवाही करने की बात कही।

वन सुरक्षा समिति के अध्यक्ष बिदेसिंह दुग्गा ने बताया कि उक्त कास्त करने वाला सचिव गाँव का निवासी भी नही जो वनक्षेत्र में नया कब्जा करने की कोशिश कर रहा था। जंगलों को बचाने की जिम्मेदारी भी हमारी है और समिति के माध्यम से यह कार्यवाही की गई है। पांच हजार से अधिक पौधे लगाए गए हैं। पूरे गांव से लोग आए हुए थे सभी ने मिलकर वनों को बचाने का संकल्प लिया है।

Related posts

भोपाल: दूसरे दिन भी जारी सरदार सरोवर विस्थापितों और सेंचुरी श्रमिकों का प्रदर्शन

Anuj Shrivastava

दमन के खिलाफ़ , खौफ के खिलाफ़ , झूट के खिलाफ़ , लूट के खिलाफ हिंसा के खिलाफ़ , जंग के खिलाफ़ , फासीवाद के खिलाफ , तानाशाही के खिलाफ भीमा कोरेगांव सम्मलेन . { 28 अगस्त 2019. गास मेमोरियल हाल.रायपुर}

News Desk

प्रधानमंत्री जी (शेक्शपियर का लिखा याद रखें)–अरब का सारा इत्र भी, आपके हाथों पर लगे खून को धो नहीं पाएगा. : सीताराम येचुरी .

News Desk