औद्योगिकीकरण किसान आंदोलन जल जंगल ज़मीन महिला सम्बन्धी मुद्दे

कृषि विशेषज्ञ पी साईंनाथ की नजर में मोदी सरकार की फसल बीमा योजना राफेल से भी बड़ा गोरखधंधा फसल बीमा प्रदान करने का काम रिलायंस, एस्सार जैसी कंपनियों के हवाले किया गया है.

NATIONABy News Wing

On Nov 4, 2018  Ahmedabad :

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार की फसल बीमा योजना राफेल से भी बड़ा घोटाला है. प्रख्यात पत्रकार पी साईंनाथ ने अहमदाबाद में यह बात कही. बता दें कि किसानों के मुद्दों पर   मुखर रहने वाले पी साईंनाथ ने सरकार की फसल बीमा योजना राफेल से बड़ा घोटाला कहा. इस क्रम में साईंनाथ ने कहा, वर्तमान मोदी सरकार की नीति किसान विरोधी है. कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना राफेल घोटाले से भी बड़ा गोरखधंधा है. आरोप लगाया कि फसल बीमा प्रदान करने का काम रिलायंस, एस्सार जैसी कंपनियों के हवाले किया गया है. जान लें कि पी साईंनाथ यहां शुक्रवार से चल रहे तीन दिवसीय किसान स्वराज सम्मेलन में बोल रहे थे.

कंपनी को बिना एक रुपये निवेश किये 143 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ

सम्मेलन में साईंनाथ ने महाराष्ट्र का उदाहरण देते हुए कहा कि 2.80 लाख किसानों ने सोयाबीन की खेती की. बताया कि एक जिले में किसानों ने 19.2 करोड़ रुपये का भुगतान किया. राज्य सरकार और केंद्र सरकार ने 77-77 करोड़ रुपये का भुगतान किया. कुल राशि 173 करोड़ रुपये हुई जो रिलायंस बीमा को भुगतान की गयी. उन्होंने बताया कि पूरी फसल खराब हो गयी.  बीमा कंपनी ने दावों का भुगतान किया. कहा कि रिलायंस ने एक जिले में 30 करोड़ रुपये का भुगतान किया. कंपनी को बिना एक रुपये निवेश किये 143 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ. बता दे कि पूर्व में जून माह में नीतीश कुमार की कैबिनेट ने बिहार में प्रधानमंत्री फ़सल बीमा योजना को ख़ारिज कर दिया था. बिहार कैबिनेट की बैठक में इसके बदले एक नयी योजना मंजूर की गयी. बिहार मंत्रिमंडल ने किसानों को फसल क्षति पर आर्थिक सहायता देने के लिए बिहार राज्य फसल सहायता योजना को मंजूरी दी थी.

***

Related posts

कठुआ : बर्बरताऔर दरिंदगी के खिलाफ लड़ने की_चुनौती

News Desk

सूरजपुर, अंबिकापुर, रायगढ़ जिला कार्यालयों और बिलासपुर जिले के गौरेला में किसान सभा और आदिवासी एकता महासभा ने दिया धरना .

News Desk

रमशीला साहू का घेराव दुर्ग में किया गया–छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ , –

News Desk