शिक्षा-स्वास्थय

कुपोषण से मुक्ति के लिए मध्यान भोजन में अंडा वितरण के निर्णय का छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन स्वागत करता हैं.

अण्डा के विरोध की जगह कुपोषण से मुक्ति की लड़ाई में आवाज बुलंद करें।

छत्तीसगढ़ में बच्चो में कुपोषण की गंभीरता को देखते हुए मध्यान भोजन में अंडा वितरण के राज्य सरकार के निर्णय का छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन स्वागत करता हैं। रमन सरकार के पिछले 15 वर्षों के कार्यकाल में मध्यान भोजन और पूरक आहार पर विशेष ध्यान नही दिए जाने के कारण ही आज प्रदेश में 38 प्रतिशत बच्चे कुपोषित हैं और यह शर्मनाक स्थिति विकास के दावों पर गंभीर सवाल खड़े करती हैं। कुपोषण की इस गंभीर स्थिति में बच्चो को प्रोटीन युक्त पूरक आहार आवश्यक हैं।

भूपेश सरकार की अण्डा वितरण की यह पहल कुपोषण से मुक्ति के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण कदम है । अंडा नही खाने वाले शाकाहारी बच्चों को दूध जैसे अन्य विकल्प उपलब्ध करवाए जाएं । जो बच्चे अण्डा खाना चाहते हैं उन्हें इससे वंचित करना उचित नही जबकि यह उनके लिए आवश्यक हैं। छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन का मानना हैं कि खान पान की स्वतंत्रता हमारा मूल संवैधानिक अधिकार हैं और उसे किसी भी संघठन या सरकार द्वारा बाधित नही किया जा सकता।


छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन

Related posts

पेंशन, मनरेगा, शिक्षको की कमी, आवास योजना मे धांधली को लेकर छत्तीसगढ़ किसान सभा का प्रदर्शन

Anuj Shrivastava

बिलासपुर : बाल संप्रेषण ग्रह में नाबालिग की मौत पर निखिल की मां पिता ने एसपी को दी शिकायत .अधिकारियों और पुलिस कर्मियों पर कार्यवाही की मांग .

News Desk

The All India Cultural Convention – Pratirodh Ek Jan Sanskritik Dakhal held at Bhillai.: We shall speak, we shall perform, we shall dance, we shall sing towards that dawn when the idea of justice is materialized in this country..

News Desk