जल जंगल ज़मीन नीतियां

किरंदूल , अदानी , फर्जी ग्रामसभाओं की जांच शुरू , तीन दिन में पूरी होनी है जांच पूरी .

पत्रिका.

बैलाडीला की डिपॉजिट 13 को अडानी को जाने के विरोध में 7 दिन चला आंदोलन गुरुवार को खत्म ने गया । इसके साथ ही जिला प्रशासन ने हिरोली में हुई कथित फजी ग्रामसभा की जांच शुरू कर दी हैं । दंतेवाड़ा एसडीएम नूतन कवर को जांच का जिम्मा दिया गया है । एसडीएम ने शुक्रवार को एनएमडीसी समेत उन सभी विभागों को नोटिस जारी किया है , जिनकी सहभागिता था । एनएमडीसी समेत विभागों से कहा गया है कि वे तीन दिन के भीतर 2014 में हुई ग्रामसभा से जुड़ी हर वो जानकारी उपलब्ध करवाए जो उनके पास है । अंदर खाने की माने तो नोटिस जारी होने से एन एम डी सी समेत विभागों में हुडकंप मचा हुआ है । विभाग के कर्मचारी रिकॉर्ड रूम में डटे हुए हैं और एक – एक कागज देख रहे हैं .

2014 में हुई कथित फर्जी ग्रामसभा में हिरेली का ग्राम पंचायत सचिव अब भी वहां पदस्थ हैं । जिस दिन आन्दोलन शुरू हुआ तब से वह गायब था. वह कांकेर जिले का रहने वाला है , जांच में उसका रहना जरूरी है । अब उसे ढूंढा जा रहा है ।

सारे तथ्य जल्द सामने होंगे एसडीएम को जांच का जिम्म सौंपा गया है । उन्होंने शनिवार को अपना काम शुरू कर दिया । हम जांच के दौरान दस्तावेजों के साथ समझौता नहीं कर सकते । इसलिए एसडीएम ने सभी डेटिंग मांगा है ताकि उसके आधार पर जांच तेजी से आगे बढ़ सके । जांच में पूरी दक्षता बरती जाएगी । ग्रामसभा से जुड़े सारे तथ्य आपके सामने जल्दी ही होंगे .

तोपेश्वर वर्मा , कलक्टर दंतेवाड़ा

Related posts

छत्तीसगढ़ सरकार का बजट जुमलेबाजी पूर्ण किसान, मजदूर युवा विरोधी…छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन

News Desk

ज्यां द्रेज से क्यों डरती है सरकार ःः उत्तम कुमार.

News Desk

माकपा ने भाजपा को जनविरोधी, सांप्रदायिक व फासीवादी पार्टी करार दिया है तथा उसे निर्णायक रूप से परस्त करने, विधानसभा में वामपंथ की उपस्थिति सुनिश्चित करने और संविधान व लोकतंत्र की रक्षा के लिए एक धर्मनिरपेक्ष सरकार के गठन की आम जनता से अपील. ःः. मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी छतीसगढ

News Desk