Uncategorized

कंसोल इंडिया और क्यूब्स मीडिया पर ईओडब्ल्यू का छापा

जनसंपर्क घोटाला

जनवरी में इन कंपनियों के खिलाफ दर्ज हुई थी एफआईआर

पत्रिका

रायपुर . आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो ( ईओडब्ल्यू ) ने जनसंपर्क घोटाले में दो निजी कंपनियों कंसोल इंडिया प्रा . लि . और क्यूब्स मीडिया के दफ्तरों पर छापा डाला है । ईओडब्ल्यू के अफसर अम्बुजा मॉल स्थित कंपनी के ठिकाने पर करीब ढाई घंटे तक छानबीन करते रहे । इस दौरान कई फाइलों और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को जब्त किया गया है । ईओडब्ल्यू के एसपी सदानंद कुमार ने बताया कि जनसंपर्क विभाग में अनियमितता की शिकायत जनवरी 2019 में हमें मिली थी । ईओडब्ल्यू ने अपराध दर्ज कर दोनों कंपनियों को नोटिस जारी कर दस्तावेज मंगाए थे । कंपनियों ने जो दस्तावेज दिए उनमें से ही बहुत से अधूरे थे । उन्हीं दस्तावेज की तलाश में यह दबिश दी गई थी । एसपी ने बताया कि तलाशी में दस्तावेज की फाइलें जब्त की गई हैं । वहां मौजूद कर्मचारियों से भी कंपनियों के कामकाज के बारे में पूछा गया है । उन्होंने बताया कि कपना सचालका को बयान दर्ज कराने के लिए जल्द ही बुलाया जाएगा ।

एसपी सदानंद कुमार ने बताया कि दस्तावेज के अध्ययन के बाद ही आगे की जांच की दिशा तय होगी । जितने भी कागजात मिले हैं , पहले उनका परीक्षण करना होगा । अगर जांच के दौसन इसमें किसी और का नाम आता है तो उसे बुलाकर भी पूछताछ की जाएगी एक ही समूह की दोनों कंपनियों का संचालन अमनदीप सिंह , सुभाष चौहान और जमां खान करते हैं । यह दोनों कंपनियां तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉ . रमन सिंह का चेहरा चमकाने के
काम में लगी थीं । 48 कंपनियों को किया था बाहर : सरकार ने विभागीय समिति बनाकर जांच की पहली नजर में गड़बड़ पाई गईं 48 कंपनियों को विभाग ने इसी साल 3 जनवरी को पैनल से बाहर कर दिया । इसमें कंसोल और क्यूब्स मीडिया का नाम सबसे आगे था । उसके बाद मामला ईओडब्ल्यू के पास भेज दिया गया ।

कंपनी ने कहा कर रहे हैं सहयोग

कंपनी प्रबंधन ने एक बयान जारी कर खुद पर लगे आरोपों को निराधार बताया है । कंपनी की ओर से कहा गया है कि जो दस्तावेज उनसे मांगे गए थे , वह दे दिए गए हैं । कुछ दस्तावेज बाकी रह गए थे , जिसे लेने के लिए ईओडब्ल्यू के अफसर आए थे । कंपनी के लेनदेन में पूरी । पारदर्शिता है । प्रबंधन ने कहा कि कंपनी जांच में पूरा सहयोग करेगी ।

Related posts

मानवाधिकार के योद्धा लाखन सिंह का जाना समाज की बड़ी क्षति

News Desk

वामपंथी ओली बने नेपाल के प्रधानमंत्री

cgbasketwp

क्या कश्मीर से भी हटेगा अफ़्सपा? बीबीसी

cgbasketwp