मजदूर मानव अधिकार

कंपनी ने लगातार हड़ताल को देखते हुए लिया निर्णय केएसके महानदी पावर प्लांट बंद , 3500 कर्मचारी हुए बेरोजगार

पत्रिका

जांजगीर – चांपा . पिछले एक सप्ताह से चली आ रही एचएमएस मजदूर संघ एवं यूनाइटेड मजदूर संघ की हड़ताल को देखते हुए मंगलवार को केएसके महानदी पावर कंपनी प्रबंधन ने प्लांट को लॉकआउट कर दिया है । इसके चलते प्लांट में कामकाज ठप हो गया है । करीब 3500 वर्कर बेरोजगार हो गए हैं । प्लांट बंद होने के बाद भी मजदूर संघ के सदस्य लगातार प्लांट के बाहर नारेबाजी कर रहे हैं । वहीं प्लांट प्रबंधन खामोश है और सभी वरिष्ठ अधिकारियों के मोबाइल फोन बंद है । फिलहाल प्लांट में तालाबंदी होने से कई राज्यों में विद्युत वितरण ठप है । इससे हर रोज करोड़ों का नुकसान हो रहा है । बता दें कि एचएमएस मजदूर संघ एवं यूनाइटेड मजदूर संघ इन दोनों समूह के लोग वेतन बढ़ोतरी सहित विभिन्न मुद्दों को लेकर हड़ताल कर रहे हैं । पहले भूविस्थापितों का वेतन बढ़ा । इसके बाद दूसरा ग्रुप भी हड़ताल में बैठ गया ।

इससे प्लांट में कामकाज प्रभावित हो रहा था । हाल ही में दोनों गुटों में लड़ाई हो गई बाद में दो गुटों में मारपीट भी हो गई थी , जिससे प्लांट में तनाव का माहौल था । इस दौरान दोनों गुटों व प्रबंधन के बीच तनातनी का दौर चल रहा था , जिसके चलते प्रबंधन ने प्लांट को लॉक आउट कर दिया । एक वजह यह भी : मजदूर यूनियन का कहना है कि प्लांट पर बैंक का करोड़ों रुपए का कर्ज है । बैंक कर्ज पटाने के लिए प्लांट प्रबंधन पर दबाव बना रहा है । इधर प्लांट की माली हालत खस्ता है , जिसके चलते प्लांट प्रबंधन को बहाना मिल गया और प्लांट में लॉकआउट कर दिया गया है।

श्रम विभाग ने दी नोटिस

उधर , तालाबंदी के बाद संशधन अधिकारी व श्रम पदाधिकारी औद्योगिक विवाद अधिनियम केके सिंह ने बिना सूचना दिए कारखाना बंद करने पर कारखाना प्रबंधक को नोटिस थमा दिया । नोटिस में कहा गया है कि तत्काल कारखाना में उत्पादन शुरू कर हमें सूचित करें । साथ ही नियमों पर उलंघन करने के बारे में सात दिन के भीतर स्पष्टीकरण दें ।

10 हजार लोगों का पलता है पेट

मजदूर यूनियन का कहना है कि प्लांट के बूते तकरीबन दस हजार लोगों का पेट पलता है । प्लांट बंद होने की स्थिति में मजदूरों का पेट चलना मुश्किल हो जाएगा । काम नहीं मिलने से मजदूर कहां जाएंगे । संघ के बलराम पुरी गोस्वामी का आरोप है कि प्लांट में लॉकआउट करना कंपनी की सोची – समझी चाल है । प्लांट प्रबंधन अपनी कमजोरियों का ठीकरा मजदूरों पर फोड़ना चाह रहा है ।

एडीएम आज लेंगी संयुक्त बैठक

जांजगीर – चांपा के कलेक्टर जनक प्रसाद पाठक के निर्देश पर 18 सितम्बर को दोपहर 1 बजे अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी लीना कोसम केएसके महानदी पावर कंपनी प्रबंधन के जिम्मेदार अधिकारियों व मजदूर संघ के पदाधिकारियों की संयक्त बैठक लेंगी । बैठक में एएसपी ,
एसडीओपी , एसडीएम एवं संबंधित विभाग के अधिकारियों को भी उपस्थित रहने कहा गया है । केएसके पावर कंपनी के वरिष्ठ महाप्रबंधक वेणुराव गोपाल , वरिष्ठ डिप्टी मैनेजर डॉ . ओझा , वरिष्ठ डिप्टी जनरल मैनेजर डॉ . अजय अग्रवाल को उपस्थित रहने कहा गया है ।

Related posts

Statement of an Urban Naxal ,: Hum Ladenge Saathi ,Ki ladne ke baghair kuch bhi nahi milta, Hum ladenge : Lal Salaam! : Gautam

News Desk

पूरे छत्तीसगढ़ मैं जगह जगह श्रद्धापूर्वक मनाया गया डॉ. भीमराव अंबेडकर का परिनिर्वाण दिवस : बिलासपुर ,रायपुर ,रायगढ़ ,भिलाई में आदरांजलि सभा और रैली के आयोजन

News Desk

जशपुरनगर : टोनही के नाम पर 70 साल की महिला को प्रताड़ित करने की घटना , रिपोर्ट कराई पुलिस में .जमीन हडपने का आरोप .

News Desk