आंदोलन मजदूर

एक जुलाई शहीद दिवस पर रैली ,श्रधांजलि और आमसभा का आयोजन .भिलाई पावरहाउस .

आज भिलाई में छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा के नेता जनकलाल ठाकुर ,सुकलाल साहू, बंशी लाल साहू , भीमराव बागड़े .और कला दास डेहरिया ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस की और एक जुलाई को शहीद दिवस के कार्यक्रम पर प्रकाश डाला ,उन्होंने कहा कि एक जुलाई 1992 के दिन श्रमिक अपनी जायज मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे थे .जिला प्रशासन मजदूरों की मांग मनवाने की जगह पुलिस गोली चालन किया जिसमें 17 मजदूर शहीद हो गये.

उनका शहीद दिवस छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा समन्वय समिति द्वारा तय किया गया हैं ऋ जिसमें मोर्चा के सभी संगठनों के लोग शामिल होंगे के लिए नंदनी मार्ग के शंकर गुहा नियोगी चौक से सुबह 10 बजे से एकत्रित होंगे ।. करीब 11 बजे के बाद नियोग जी की को प्रतिमा पर माल्यार्पण के पश्चात रैली प्रारंभ होगी , जो छावनी चौक से पावर हाउस होकर सेक्टर 1 के बचत चौक में सभा स्थल में पहुचेंगे .जहां से शहीद परिवारों को लेकर रेल्वे स्टेशन के प्लेटफार्म नं – 1 जहाँ गोली कांड हुआ वहाँ स्थल पर शहीदों को श्रधांजलि अर्पित करने के पश्चात सभा स्थल पहुंचकर सभा को को सत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा के सभी संगठनों के प्रतिनिधियों के अलावा छत्तीसगढ़ के अनेक जन संगठनों के प्रतिनिधियों के अलावा दूसरे प्रांत के प्रतिनिधि भी संबोधित करेंगे .

उन्होंने कहा कि कामरेड शहीद शंकर गुहा नियोगी के नेतृत्व में जो संघर्ष छेड़ा गया वह आज भी जारी है । जे . के . लक्ष्मी सीमेंट अहिवारा कंपनी द्वारा करीब 850 किसानों को यह बोलकर जमीन लिया गया कि कंपनी में नौकरी मिलेगी या नौकरी के बदले वेतन दिया जायेगा 2213 से वेतन दिया जा रहा था उसमें से 350 किसानों का भुगतान बंद किया गया , इस संबंध में जिला कलेक्टर से लेके मुख्यमंत्री तक भेंट कर चुके हैं , किन्तु कंपनी द्वारा टाल मटोल किया जा रहा है , बल्कि कंपनी 500 श्रमिकों में से 200 स्थानीय श्रमिक कार्यरत हैं इसलिए शहीद दिवस के पश्चात किसानों को लेकर आंदोलन करेंगे । उन्होंने यह भी कहा कि भीमा कोरेगांव की घटना को लेकर महाराष्ट्र की पूणा पुलिस अधिवक्ता सुधा भारद्वाज सहीत अनेक लेखक कवि मानवधिकार कार्यकर्ताओं को फर्जी मामला बनाकर गिरफ्तार किया है , उसकी हम निंदा करते हैं , तथा उन सभी को निःशर्त रिहाई को मांग करते है .

**-

Related posts

छत्त्तीसगढ ःः संवैधानिक हकों और वन संसाधनों पर अधिकारों के लिए ग्राम सभाओं की एकजुत्ता :  वन अधिका कानून को उसकी मूल भावना के अनुरूप के अनुसार लागू करना हमारी सरकार की पहली प्राथमिकता.: आदिवासी विकास मंत्री .

News Desk

India won’t tolerate violence on its campuses by the right wing goons, nation wide protests today

Anuj Shrivastava

ओबीसी वर्ग का आरक्षण 14% से 27% एवं एस. सी. वर्ग का आरक्षण 12% से 16% करने हेतु, “न्याय अधिकार पदयात्रा” का आयोजन, न्यायधानी बिलासपुर से राजधानी रायपुर तक

News Desk