आंदोलन ट्रेंडिंग महिला सम्बन्धी मुद्दे मानव अधिकार हिंसा

उत्तराखंड : गढ़वाल के छात्रों ने बढ़ते गैंगरेप और महिला सुरक्षा के मद्देनज़र निकाला प्रतिरोध मार्च

uttarakhand gadhval

उत्तराखंड. देश मे लगातार हो रहे यौनिक हमले के खिलाफ और बलात्कार की घटनाओं का विरोध करते हुए राजकीय महाविद्यालय सतपुली के छात्र-छात्राओं ने आज प्रतिरोध मार्च और प्रतिरोध सभा का आयोजन किया. यह प्रतिरोध मार्च  महाविद्यालय कैम्पस के  गेट से शुरू होकर  के पूरे बाज़ार में घूमा. प्रतिरोध में सरकार की फेल होती प्रशासकीय व्यवस्था और अपराधियों के बढ़े मंसूबों के ख़िलाफ़ नारे भी लग रहे थे. छात्रों ने शांतिपूर्ण तरीके से  कार्यक्रम के अगले क्रम में महाविद्यालय के गेट पर मौजूद सभी विद्यार्थियों एवं शोधार्थियों ने इस मामले में अपने विचार रखे.

छात्रसंघ अध्यक्ष विजय ने कहा कि समाज में बदलाव लाने की जरूरत शिद्दत से महसूस की जा रही है. अब वक्त आ गया है जब हम सभी अपनी पढ़ाई लिखाई से अर्जित ज्ञान का प्रयोग समाज की बुराइयों के खिलाफ करें, इसके लिए शुरुआत हम स्वयं से करें एवं हमारी भावी पीढ़ी को एक सुरक्षित समाज प्रदान करें. 

महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय के छात्र  ऋषभ ने कहा कि सरकार को इसपर बिना विलंब फास्टट्रैक अदालतों की मदद से बिना किसी रहमोकरम के न्याय की व्यवस्था करनी चाहिए जिससे आम जन मानस का भी विश्वास भारतीय न्यायालय पर बना रहे और बलात्कार जैसे घृणित कार्य पर रोक लग सके. एक छात्रा अंकिता ने अपने अनुभवों को सबके सामने व्यक्त किया. 

इसके अलावा  चौबट्टाखाल विधानसभा अध्यक्ष रोहन सिंह नेगी ने कहा कि हम सभी अपने जीवन में महिलाओं को एक वस्तु की जगह एक इंसान के रूप में देखेंगे तभी हम एक बेहतर समाज की कल्पना कर सकेंगे. इस मार्च सह प्रतिरोध सभा में बड़ी संख्या में महाविद्यालय के विद्यार्थी मौजूद थे.          

उत्तराखंड से ऋषभ की रिपोर्ट

Related posts

कार्पोरेट मुनाफे के लिए बनाई गई हैं कामर्सियल कोल माइनिंग निति : राज्य सरकारों के नाम पर अदानी को सोंपी जा रही हैं छत्तीसगढ़ की बहुमूल्य खनिज संपदा . : छतीसगढ बचाओ आंदोलन.

News Desk

PUCL writ filed in the Criminal law Rajasthan ordinance matter .

News Desk

राक्षस आक्रमण कर रहे हैं तो तुम भी कुछ ‘करो-ना करो-ना, गो कोरोना”

News Desk