राजनीति

आम आदमी पार्टी बुध्दजीवीयों के साथ चर्चा करके विजन छतीसगढ का डॉक्यूमेंट तैयार कर् रहे हैं .

22.05.2018

रायपुर 

पहली बार किसी राजनैतिक पार्टी द्वारा छत्तीसगढ़ के समग्र विकास की कार्ययोजना के लिये चर्चा।

छत्तीसगढ़ में पहली बार आम आदमी पार्टी ने अपने 31प्रत्याशी विधानसभा चुनाव में चुनाव लड़ने के लिये घोषित किये।
उसके बाद छत्तीसगढ़ के समग्र विकास के मॉडल को तैयार करने के लिए जनता के बीच जाकर प्रबुद्धजनों से परिचर्चा कर राय ली। प्रदेश प्रभारी गोपाल राय ने व पार्टी के पदाधिकारी समूह ने निम्न लिखित प्रबुद्धजनों को सुना व राय ली।
सभी प्रबुद्धजनों ने आम आदमी पार्टी जैसी एक राजनैतिक पार्टी द्वारा छत्तीसगढ़ के विकास के लिए इस तरह के आयोजन को महत्व देते हुए अपना घोषणा पत्र व आगे की कार्ययोजना बनाने की रणनीति पर कार्य करने की शैली पर प्रसन्नता जाहिर की है।

इस कड़ी में सबसे पहले गौतम बंदोपाध्याय जी ने जल , जंगल व जमीन की समस्या को व्यवहारिक व जनहित के दृष्टिकोण को ध्यान में रखकर कार्ययोजना बनाने पर जोर दिया। उन्होंने प्रदेश में जल धन के संरक्षण पर जोर देकर संरक्षण की गारंटी लेने पर बल दिया।

डॉ एम एल यदु जी , पूर्व प्रोफेसर, मेडिकल कॉलेज, ने छत्तीसगढ़ के सीधे सादे लोगों के दिलों में बसने वाले विकास के मॉडल को समझकर तदनुसार कार्ययोजना की सरंचना पर बल दिया।

कोमल पारेख,इंजीनियर व व्यवसायी होते हुए उद्योगों की संरचना के साथ पर्यावरण को नुकसान न पहुँचाते हुए कार्य योजना बनाने पर जोर दिया।

उमाप्रकाश ओझा जी एक ईमानदार नियत से कार्य करने वाली ईमानदार सरकार की कल्पना की योजना को साकार करने की राय दी।

श्रीमती नम्रता यदु जी , महिला उद्यमी होते हुए महिला शिक्षा व उनके लिए उद्योग में भागीदारी पर बल दिया।

रूपम चंद्राकर जी एक जुझारू किसान होते हुए किसानों के सभी हितों को ध्यान में रखकर कार्ययोजना बनाने पर बल दिया।सुप्रीम कोर्ट के उपजाऊ जमीन पर निर्माण न करने के नियम को ध्यान में रखकर नीति व योजना बनाने पर भी जोर दिया ।

रजनीश अवस्थी ने कृषि के साथ कृषि आधारित उद्योगों की योजना को भी बढ़ावा देते हुए सुदूर इलाकों में कृषि आधारित उद्योगों का विकास का मॉडल बनाने पर जोर दिया।

मानस बनर्जी ने राज्य में पूर्ण विकेंद्रीकरण कर पंचायतों को सभी अधिकार देने के मॉडल को विकसित करने की बात कही। उन्होंने कहा कि योजना व खर्च करने के अधिकार भी ग्राम पंचायत को देने चाहिए। इसके साथ कौशल विकास के कार्यकृम को क्षेत्र में आधारित उद्योगों के अनुरूप होना चाहिए।

अधीर भगवानानी ने सभी योजना के क्रियान्वयन के लिए एक ईमानदार कोशिश का होना बहुत जरूरी बताया।

पार्टी से प्रभाकर ग्वाल व दुर्गा झा ने भी घोषणा पत्र के लिये अपने विचार रखे।

प्रदेश प्रभारी गोपाल राय जी ने अंत में अपने उद्बोधन में कहा कि सभी राय हमने सधन्यवाद नोट कर ली है ।
उन्होंने आगे कहा कि इसी प्रकार आगे भी विज़न छत्तीसगढ़ परिचर्चा प्रदेश के अन्य प्रमुख शहरों व विधानसभा में होती रहेगी । दूरदराज के क्षेत्रों से आने वाली समस्या व समाधान को ध्यान में रखकर आम जनों के इच्छाओं के अनुरूप ही आम आदमी पार्टी का चुनाव घोषणा पत्र तैयार होगा। उन्होंने आगे कहा कि चुनाव के बाद आम जनता के सहयोग से सरकार बनाने पर आम आदमी पार्टी की सरकार अक्षरशः घोषणा पत्र पर कार्य भी करेगी जैसे दिल्ली में आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार केजरीवाल जी के नेतृत्व में कर रही है।

**

 

Related posts

8 घंटे की नौकरी और पगार महज 40 रुपये :कांकेर में रसोईयों का प्रदर्शन .

News Desk

कस्टोडियन का बहाना बनाकर ग्रामीणों की मांगो को कुचला नही जा सकता .- भूपेश बघेल

News Desk

Indore High Court granted bail to Medha Patkar on 15th Day of arrest.*

News Desk