कला साहित्य एवं संस्कृति

24.आज मसाला चाय कार्यक्रम में सुनिए सर्वेश्वर दयाल सक्सेना की कविता “खाली समय में” अनुज .

आज मसाला चाय कार्यक्रम में सुनिए सर्वेश्वर दयाल सक्सेना की कविता “खाली समय में”
आज की भागती दौड़ती ज़िन्दगी में जब हमारे पास अपने लिए भी समय नहीं है, ऐसे समय में सर्वेश्वर दयाल सक्सेना की ये कविता वो समय याद दिलाती है जब हमारे पास थोड़ी फुर्सत रहा करती थी।
जाड़े में धूप तापने की फुर्सत, दोस्तों के साथ गपियाने की फुर्सत, घर के पालतू जानवरों से उनका हालचाल करने की फुर्सत, राह चलते किसी की मदद करने की फुर्सत…

अनुज श्रीवास्तव ने मुबंई में.मसाला चाय की श्रंखला प्रारंभ की थी जिसमें वे देश के लब्धप्रतिष्ठित साहित्यकार ,कवि और लेखकों की कहानी, कविता का पाठ करते है.यह श्रंखला बहुत लोकप्रिय हुई ,करीब 50,60 एपीसोड. जारी किये गये. सीजीबास्केट और यूट्यूब चैनल पर क्रमशः जारी करने की योजना हैं. हमें भरोसा है कि अनुज की लयबद्धत आवाज़ में आपको अपने प्रिय लेखकों की कहानी कविताएं जरूर पसंद आयेंगी. मसाला चाय के इस अंक में सुनिए.. सुनिए सर्वेश्वर दयाल सक्सेना की कविता “खाली समय में”

Related posts

? || हमें तो अब भी वो गुज़रा ज़माना याद आता है || :  ० दस्तक के लिए- यूनुस खान

News Desk

चे ग्वेरा के सुपर ब्रांड रूप और इसके व्यावसायिक इस्तेमाल के विरोध में ‘चे’ के बच्चों उनके विचारों की रक्षा के लिए आगे आना पड़ा.

News Desk

हर कवि अपने पूर्वज कवियों का ऋणी होता है

News Desk