छत्तीसगढ़ नीतियां पुलिस बिलासपुर मजदूर मानव अधिकार राजकीय हिंसा हिंसा

अटल आवास बहतराई में निगम की कार्रवाई, अवैध रूप से रह रहे लोगों को घर से बाहर निकाला 20 से ज़्यादा गिरफ़्तार

बिलासपुर के बहतराई के पास स्थित अटल आवास में पिछले कुछ दिनों से बेजा कब्जा हटाने निगम की कार्रवाई चल रही है.

निगम आयुक्त के निर्देश पर शनिवार की सुबह अटल आवास में बेजा कब्जा खाली करवाने की कार्रवाई की जा रही थी. निगम का कहना है कि कार्रवाई के दौरान बेजाकब्जाधारियों ने निगम दस्ते पर पथराव शुरू कर दिया. बताया जा रहा है कि नाग नागिन तालाब के पास निगम अमले सहित CSP निमिषा पण्डे की गाड़ी पर पथराव किया गया.

फ़ोटो सौजन्य : सिटी पवार न्यूज़

पथराव की सूचना आला अधिकारियों को दी गई तो मौके पर अतिरिक्त पुलिस बल भेजा गया. घटना स्थल से 20 से ज़्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया है. मौके पर स्थिति अब भी तनावपूर्ण बनी हुई है.

फ़ोटो सौजन्य : सिटी पवार न्यूज़

गरीबों को घर दिलाने की सरकारी योजनाएं फेल हैं. छत्तीसगढ़ में अब भी लाखों लोगों के पास अपना खुद का घर नहीं है. अनेक नामो से बनाए गए सरकारी आवास बगैर मिठाई खिलाए मिल नहीं पाते, यही हमारे समय की व्यवस्थागत सच्चाई है. कहीं कहीं से जुगाड़ जमा कर सरकारी आवासों में रह रहे लोगों को बेजाकब्जाधारी अह्ना भी ठीक नहीं लगता. वो ग़रीब हैं शायद इसलिए उनके साथ ये संबोधन बड़ी आसानी से जोड़ दिया जाता है. इस मुश्किल समय में ग़रीब के सर से छत का छीन लिया जाना ही क्या एकमात्र रास्ता है, उसके लिए छत का इंतज़ाम करवाना भी तो एक बेहतर रास्ता हो सकता था.

Related posts

जनमुक्ति मोर्चा ने मनाया शहीद दिवस : दल्ली राजहरा

News Desk

झारखंड में 133 योजनाएं फिर भी आत्महत्या क्यों कर रहे हैं किसान

Anuj Shrivastava

चुनाव आचार संहिता के नाम पर फिर पुलिस ने की बद्तमीजी सोनी सोरी से.

News Desk