कला साहित्य एवं संस्कृति

अग्रज नाट्य मंडली : विश्व रंगमंच दिवस पर ” वेंटीलेटर ” का मंचन ./ बिलासपुर

 

27.03.201 : बिलासपुर

नंद कशयप की टिप्पणी 

 

आज विश्व रंगमंच दिवस पर अग्रज नाट्य मंडली ने अपनी रजत जयंती पर नाटक”वेंटीलेटर” खेला, नाटक की शुरुआत एक बच्ची द्वारा हरेक आते जाते को thank you बोलने से शुरू होती है, एक सज्जन उससे पूछते हैं कि वह उसे thank youक्यों बोल रही है तब बच्ची कहती है उसे एक बीमारी के कारण बार बार खून चढ़ाने की जरूरत पड़ती है और उसे सबने खून दिया है तो सभी को वह धन्यवाद दे रही है,

 

नाटक का दृश्य बदलता है,एक बच्ची अपने अमीर अफसर पिता के साथ स्कूल बस के इंतजार में खड़ी हरेक आते जाते को thank you कह रही है तो एक राहगीर पूछ बैठता है कि वह उसे thank you कह रही है तो बच्ची बोलती है कि मम्मी को अपने सहेली से बोलते सुना कि उसके मंहगे गहनों कपड़ों के लिए और बच्ची के मंहगे स्कूल खर्च के लिए वेतन का उपयोग नहीं होता वरन् वह लोगों से मिले ऊपरी कमाई से हो जाता है अब वह देने वाला तो कोई भी हो सकता है न इसलिए सभी को thank you कहती हूं, जन्म से लेकर मृत्यु तक फाईलों से उलझते आम इंसान की त्रासदी को बेहद रोचक ढंग से सामने लाता यह नाटक बतलाता है कि व्यवस्था वेंटिलेटर पर है, लेकिन इसका मर्ज भी हम हैं और इलाज़ भी हम ही हैं , यदि हम बोलेंगे सवाल करेंगे तो व्यवस्था का इलाज संभव है वर्ना मृत्यु सुनिश्चित है

 

विश्व रंगमंच दिवस को सार्थक करने और हम सबको एक मनोरंजक लेकिन गंभीर नाटक दिखाने के लिए धन्यवाद अग्रज नाट्य मंडली, निर्देशन सुनील चिपड़े का था

 

 

Related posts

एक थे शंकरन और एक नृपेंद्र चक्रवर्ती : बिल्कुल फकीरी का जीवन .: हिमांशु कुमार .

News Desk

झारखंड सरकार के द्वारा किसी भी किताब को अपने राजनैतिक हितसाधन के लिए प्रतिबंधित किये जाने की घोर निंदा करते हैं .

News Desk

इधर दो-तीन दिनों से आपकी भाषा मानवीय मर्यादा और राजनीतिक गरिमा की सरहदें ध्वस्त कर रही है!- प्रधानमंत्री को लिखा पत्र वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश ने.

News Desk