दलित मानव अधिकार विज्ञान

अंधविश्वास के कारण नरबलि की घटना डॉ. दिनेश मिश्र : ‘अंधविश्वास से बचें’ — डॉ दिनेश मिश्र ने कहा कि पलारी के ग्राम अमेरा में हुई नरबलि की घटना अंधविश्वास का परिणाम है . बैगा की सलाह पर भूत भगाने के लिए बलि देने की घटना अत्यंत दुखद है।

1.12.2017
रायपुर

डॉ दिनेश मिश्र ने कहा ग्रामीण अंचल में आज भी अंधविश्वास के कारण ऐसी घटनाएं घटित होती हैं जिसमें लोग बैगा गुनिया की सलाह पर अंधविश्वास कर आपराधिक कृत्य कर बैठते है। पलारी के पास भी ऐसा ही हुआ रामगोपाल पटेल नामक व्यक्ति को राजेश यादव नामक बैगा ने घर की समस्त समस्याओं का कारण घर में कथित रूप से भूत बाधा बताया और उसके निवारण के लिये नरबलि देने का उपाय बताया । ने अंधविश्वास में पड़ कर अपने ही बेटे रूपेश की बलि दे दी और उसका रक्त भगवान की मूर्ति पर चढ़ा दिया ।जो कि अत्यंत शर्मनाक और दुखद है। डॉ दिनेश मिश्र ने कहा भूत प्रेत ,जादू टोना जैसी मान्यताओं का कोई अस्तित्व नही होता ।इस लिए भूत प्रेत ,जादू टोने टोटके के निवारण के लिए बताए जाने वाले ऐसे उपाय भीअंधविश्वास के अलावा कुछ नही है ।मनुष्य और पशुओं में होने वाली विभिन्न बीमारियां भी अलग अलग कारणों से होती है जिनका उसके कारण के हिसाब से ही उपचार सम्भव है ।ग्रामीणों को बैगाओं और तांत्रिको के ऐसे चमत्कारिक उपचार और समाधान वाले दावों पर भरोसा नहीं करना चाहिए और विज्ञान और चिकित्सा शास्त्र सम्मत सलाह लेना चाहिए । यदि हर बीमारी का भीड़भाड़ भरे शिविरों ,झाड़फूंक ,से ही चमत्कारिक इलाज हो पाता तो सरकारों को न ही देश भर में एम्सप्रादेशिक,मेडिकल कॉलेज ,कैंसरअस्पताल ,विकलांगो के लिए पुनर्वास केंद्र खोलने पड़ते ,न ही केंद्र और राज्य सरकारों को स्वास्थ्य योजनाएं लागू करनी पड़ती ।डॉ दिनेश मिश्र ने कहा है नागरिको को किसी भी बैग ,गुनिया ,तांत्रिको ,के बहकावे में नहीं आना चाहिये और कोई भी गलत कदम नही उठाना चाहिये जिससे उनके स्वास्थ्य और आर्थिक ,शारीरिक सुरक्षा को नुकसान पहुंचे .

**

डॉ दिनेश मिश्र अध्यक्ष अंध श्रद्धा निर्मूलन समिति

Related posts

काहिरा की अल अज़हर यूनिवर्सिटी के मोहम्मद मुतलिब ने साबित किया कि आइंस्टीन की थियरी ऑफ़ रिलेटिविटी बकवास है : वुसतुल्लाह खान पाकिस्तान से बीबीसी के लिये

News Desk

रायगढ : मानव तस्करी से जुड़ा शर्मनाक मामला प्रकाश में आया : 16 वर्षीय नाबालिग को परिचित ने राजधानी दिल्ली में बेच दिया था .

News Desk

सामाजिक बहिष्कार से पीड़ित पुरी समाज की महिलाये पूरे परिवार सहित महिला आयोग पहुची . जिंदल के अधिकारियो को लगाईं फटकार आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पाण्डेय ने .

News Desk