भूमिअधिग्रहण की कार्यवाही से नाराज ग्रामीणों ने secl के अधिकारियों को पीटा; तीन घायल एक का हाथ टूटा .

भूमिअधिग्रहण की कार्यवाही से नाराज ग्रामीणों ने secl के अधिकारियों को पीटा; तीन घायल एक का हाथ टूटा .
**
अंबिकापुर /बिश्रामपुर /
अमेरा खुली खदान में भूमिअधिग्रहण का ग्रामीण शुरू से विरोध कर रहे है .गैरकानूनी अधिग्रहण  के खिलाफ   आंदोलनरत ग्रामीण से चर्चा करने दो अधिकारी   एक सिक्योरिटी गार्ड  को लेकर गये थे .ग्रामीणजनो की आपत्ति पर अधिकारी जब जबरजस्ती अधिग्रहण की बात करने लगे तो तूतू में में होने लगी तब सिक्योरिटी गार्ड ने ग्रामीणों को देखलेने की धमकी दी तो लोगों में आक्रोश फैल गया और उनमें से कुछ नौजवानों ने धोंस दे रहे अधिकारी से झूमाझटकी करने लगे ,इसके बाद मारपीट शुरू हो गई ,ग्रामीणों ने अधिकारियों पर और अधिकारियों ने ग्रमीणों पर हमले का आरोप लगाया .
इस मारपीट में एस इसीएल के दोनों अधिकारियों और गार्ड को चोट आई ,गार्ड का हाथ टूटने की भी खबर है.
इस झगड़े में ग्रामीणों को भी चोट आई है .
Secl बिश्रामपुर क्षेत्र अंतर्गत अमेरा खुली खदान सरगुजा के लखनपुर विकासखण्ड के ग्राम परसोडी बहार के पास है. कोयला खोदने के लिये अमेरा खदान अपनी पूर्व निर्धारित भूमि  का विस्तार करने के लिये प्रयासरत है ,इसके लिये एस ई सी एल प्रबंधन खदान के आसपास पडने वाली ग्राम परसोडी के ग्रामीणों की जमीन के अधिग्रहण की कार्यवाही करने के लिये बार बार सारे कानूनी प्रावधानों के खिलाफ प्रशासन और पुलिस के साथ दबाव डाल रहा था ,इससे ग्रमीण बहुत नाराज थे.
भूमिअधिग्रहण के लिये शुक्रवार को दोपहर तीन बजे secl  के सहक्षेत्र प्रबंधक आरपी शाहा ,सर्वेअधिकारी अजीत सिंह और सिक्योरिटी गार्ड बटेश्वर के साथ बोलेरो से परसोडी बाहर गये थे. यहाँ गांव के बुजुर्गों से बातचीत चल रही थी ,इतने में अधिकारियों ने यह कहा की जमीन तो आपको देना ही पडेगी चाहे राजीखुशी देदो नही तो प्रशासन उनसे जमीन ले ही लेगा.
इसपर माहौल गर्म हो गया ,ग्रामीणों का कहना है कि गार्ड ने गांव के बुजुर्ग पर हाथ उठा दिया और मारपीट शुरू हो गई।
Secl की शिकायत लखनपुर थाने में दर्ज की गई ,और कार्यवाही की जा रही है .
***

cgbasketwp

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account



%d bloggers like this: