किसानों की आत्महत्या लगातार बढ़ रही लेकिन भाजपा सरकार के निष्ठुर रवैये में कोई बदलाव नहीं, विधायको और मंत्रियों का घेराव अब लगातार होगा

**

कवर्धा जिले के ग्राम देहारी तहसील कवर्धा में एक किसान संतोष साहू ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। बुधवार 19 जुलाई को घटना स्थल पर मिले सुसाइड नोट को पुलिस ने ग्रामीणों के बीच पढ़कर सुनाया  जिससे इस बात की पुष्टि हुई कि संतोष साहू ने कर्जदार होने की बात लिखी थी । कर्ज की वजह से पिछले डेढ़ महीने में किसानों द्वारा की जाने वाली यह पन्द्रहवीं आत्महत्या है । दुर्भाग्य की बात है कि राज्य सरकार अभी भी अपनी नाकामियों को छिपाने में लगी हुई है । छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ के संचालक मंडल सदस्य द्वारिका साहू, रूपन चन्द्राकर, पप्पू कोसरे, डॉ संकेत ठाकुर, गौतम बंदोपाध्याय, गिरधर मढ़रिया, उत्तम चन्द्राकर, वीरेंद्र पांडेय, लक्ष्मी नारायण चन्द्राकर ने किसानों के प्रति राज्य सरकार के निष्ठुर रवैये की तीखी आलोचना की है ।

किसान महासंघ अब तक राज्य के 5 विधायकों एवम मंत्रियों का उनके निवास पर घेराव चार साल का धान पर बोनस रु 1200 प्रति क्विंटल, कर्ज मुक्ति, स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिश लागु करने, मुफ्त बिजली सहित अनेक मांगो के साथ कर चुका है ।

राज्य सरकार के मन्त्रियों के किसानों के साथ दुर्व्यवहार को देखते हुए किसान महासंघ ने घेराव कार्यक्रम को लगातार करने का फैसला लिया है । इसके तहत 23 जुलाई को बलौदाबाज़ार विधायक जनक राम वर्मा, 24 जुलाई को खल्लारी विधायक चुन्नीलाल साहू, 25 जुलाई को बिलासपुर में बोनस बइठका, 27 जुलाई को लोरमी विधायक पोखन साहू और 28 जुलाई को साजा विधायक लाभचंद बाफना का घेराव किया जायेगा । यदि इसके बाद भी किसानों की मांगे नही मानी गयी तो विधानसभा सत्र के दौरान आंदोलन को तीव्र किया जायेग ।

डॉ संकेत ठाकुर
छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ

CG Basket

Related Posts

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account



%d bloggers like this: