तलवार की धार की तरह तेज़ होता राजस्थान का किसान आंदोलन

तलवार की धार की तरह तेज़ होता राजस्थान का किसान आंदोलन

तलवार की धार की तरह तेज होता राजस्थान का किसान आंदोलन महिलाएं भी झांसी की रानी बनकर उतरी संघर्ष के मैदान में,
**

प्रदेश की सत्ताधारी सरकार के हाथ पांव फुल चुके है बौखलाहट साफ नजर आ रही है रानी सरकार की तकरीबन 12 जिलो में किसान आँदोलन की चिंगारी फैल चूकी है राजस्थान की पृष्ठभूमि पर एक ऐतिहासिक आंदोलन की करवट ले चुका है ये आंदोलन ।
किसान कृफ्यू से ही साफ हो गया था प्रदेश का अन्नदात्ता अपना हक लेकर रहेगा पिछे हटने वाले नहीं ।
आज आंदोलन 13 दिन में प्रवेश कर चुका है वास्तविकता ये है सत्ताधारी पार्टी को वोट देने वाला किसान आज किसान विरोधी सरकार की नितियो से आहत होकर किसान क्रान्ति के संघर्ष में मौजूद है ।
प्रत्यक्ष को प्रमाण की आवश्यकता नहीं होती राजस्थान के श्रीगंगानगर में गंगनहर में पानी की मांग को लेकर आंदोलन,एटा सिंगरासर का आंदोलन,हनुमानगढ में भाखड़ा नहर में पानी की मांगका आंदोलन,सीकर में बीजली के बढे दामो के खिलाफ आंदोलन और अब कर्जा माफी और स्वामिनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने की मांग को लेकर पूरे राजस्थान में फैल चुका किसान आंदोलन में किसानों की बढती तादाद ही स्ंव्य प्रमाण है ।
किसानो के संघर्ष में दिनो दिन बढती तादाद और किसानों का आक्रोश सत्ताधारी बीजेपी सरकार की चोखटे तो हिला ही चुका है साथ ही साथ आने वाले समय में किसान विरोधी सरकार को उखाड़ फैंकने के लिये परिपक्व हो चुके है ।

किसान एकता जिंदाबाद ||
**

नन्द कश्यप की रिपोर्ट

CG Basket

Related Posts

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account



%d bloggers like this: