सामाजिक बहिष्कार से पीड़ित पुरी समाज की महिलाये पूरे परिवार सहित महिला आयोग पहुची . जिंदल के अधिकारियो को लगाईं  फटकार आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पाण्डेय ने .

सामाजिक बहिष्कार से पीड़ित पुरी समाज की महिलाये पूरे परिवार सहित महिला आयोग पहुची . जिंदल के अधिकारियो को लगाईं फटकार आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पाण्डेय ने .

**
बिलासपुर 8 अगस्त /पत्रिका /
पुरी समाज की महिलाये सामाजिक बहिष्कार का दंश झेल रही हैं .समाज के ठेकेदार उन्हें 50 हजार से लेकर एक लाख तक के जुर्माने से दंडित कर चुके हैं .परन्तु उन्ह एसमाज से जोड़ने की जगह फिर किसी न किसी कारण समाज से निकल देते हैं .इसके कारण परेशां होकर बहिष्कृत परिवार अपना पूरा कुनवा लेकर राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पाण्डेय के पास पंहुचा .
परिवार ने कलेक्ट्रेट बिलासपुर के सभा कक्ष मंथन में अपनी आप बीती सुनाई .आयोग ने ऐसे सभी मामले को दर्ज कर लिया हैं .महिला आयोग की दो दिवसीय सुनवाई बिलासपुर में शुरू हुई ,पहले दिन 40 केस पर सुवाई हुई .इन प्रकरणों में कार्यस्थल पर प्रताड़ना ,मारपीट ,दहेज़ प्रताड़ना ,टोनही ,सम्पति विवाद ,विवाह ,दुष्कर्म व अन्य मामले शामिल थे .

बच्चे पुरुष महिलाये पहुची
.
जिले के विभिन्न स्थानों पर रहने वाले पुरी समाज के लोग जो किन्ही न किन्ही कारण से सामाजिक बहिष्कार का दंश झेल रहे हैं, ऐसे दस परिवार अपने बच्चो ,महिलाये साहित आयोग के सामने पेश हुए ,पीड़ित परिवार ने आयोग को बताया की जमीन जायदाद में हिस्सा लेने , बेटे के स्वजातीय लड़की से मनपसंद से ब्याय्ह करने ,पति द्वारा पत्नी को मायके की सम्पति मे बँटवारा लेने आदि मामलों को लेकर दबाब बनाने का प्रयास किया जा रहा हैं , ऐसा नहीं करने पर समाज के मुखिया ने रोती बेटी का सम्बन्ध बनाने से बहिष्कार कर दिया .

जिंदल के अफसर को लगाईं फटकार

आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पण्डे ने कार्यस्थल पर प्रताड़ना के मामले में जिंदल स्टील पावर रायगढ के दो अधिकारीयों द्वारा एक महिला कर्मी को प्रताड़ना से रोकने के कारण नोकरी से निकालने के मामले में जिंदल कंपनी के दोनों अधिकारियो को जमकर फटकार लगाई. आयोग की अधक्ष ने अधिअक्रियो के नहीं आने पर एक घंटे तक सवाल जबाब किया .

टीआई तीन घंटे तक बैठे रहे .

एक महिला की एफआईआर दर्ज नहीं करने पर और बार बार थाने बुलाने पर कोनी थाना प्रभारी एससी शुक्ला को आयोग में नोटिस जारी किया था .वे सुनवाई के लिये सभा काश में तीन घंटे तक बैठे रहे .

आयोग की आज भी सुनवाई की जा रही है जिसमे करीब 40 प्रकरण रखे जा रहे हैं .


**

CG Basket

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account



%d bloggers like this: