26-11-2017 इर्शादुल हक, एडिर, नौकरशाही डॉट कॉम ** कुछ महीने पहले जब बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति चुना गया तो कुछ लोगों ने उन्हें संघ का मुखौटा घोषित कर दिया था. यह बताया जा रहा था कि कोविंद हिंदुत्व की राजनीति के वाहक हैं और यह भी […]

26.11.2017 बिलासपुर / आम्बेडकर चौक में सम्विधान दिवस के दिन अम्बेडकर युवा मंच ने भव्य आयोजन किया ,शानदार सांस्कृतिक कार्यक्रम ,प्रतिभाशील लोगों का सम्मान , युवा साथी सुरेश रामटेके का संस्मरण और देश के प्रसिध्द अम्बेडकर वादी चिंतक चौथी राम यादव और डॉ. सुनील सुमन के वक्तव्य से भारी संख्या […]

26 नवंबर 2017 * आज प्रदेश मे कई स्थानों पर संविधान दिवस बडे धूमधाम से मनाया जा रहा है , विभिन्न सामाजिक संगठन ,दलित संगठन पूरे नवम्बर संविधान दिवस के आयोजन करते रहे ,वही छत्तीसगढ़ सरकार ने भी सर्कुलर जारी करके आज के दिन आयोजन करने के लिये निर्देश. जारी […]

*SC + ST + OBC + Miorities संयुक्त मोर्चा* के तत्वाधान में *भारतीय संविधान दिवस के अवसर पर* संविधान बचाओ, लोकतंत्र बचाओ जन आन्दोलन जन ज के तहत *विशाल जन सभा* 26 नवम्बर 2017, रविवार, प्रातः 11 बजे से रंग मंदिर, गाँधी मैदान, रायपुर, छत्तीसगढ़ *मुख्य अतिथि* जस्टिस (सेवानिवृत) के. […]

जलती हुई बस्तियों के बारे में बात करना राजद्रोह सिद्ध कर दिया गया है हद है मुझे मेरे उदार होने के लिये गाली दी जा रही है कहा जा रहा है कि चूंकि मेरे विधर्मी अनुदार हैं इसलिये मेरा उदार होना अब धरम विरुद्ध है अब मेरा सारा वैज्ञानिक चिंतन […]

18.11.2017 ** आदिवासी मंगल भवन कवर्धा में संयुक्त मोर्चा द्वारा श्रीमती सीमा अनंत जी उपाध्यक्ष जिला पंचायत कवर्धा के कुशल नेतृत्व में संविधान का सामूहिक वाचन किया । इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में महिला पुरुष भाग लिये। भारतीय संविधान के प्रस्तावना (आत्मा ) ,मौलिक अधिकार के साथ संयुक्त राष्ट्र […]

Jaipur 15th November, 2017 The enclosed eight point note, called the SP Alwar note circulating in the media, on the killing of Umar of Ghatmika, Kaman Pahadi, Bharatpur district due to cow vigilantism, tries to showcase it is an ordinary (everyday) fight between two gangs of criminals, one of which […]

  4.11.2017 ** जगदलपुर / पीयूसीएल छतीसगढ़ और आल इंडिया लायर्स यूनिंयन ने पिछले दिनों बस्तर पुलिस के आईजी और एसपी से मिल कर उन्हें ज्ञापन दिया जिसमें माँग की गई कि बस्तर में अदिवक्ताओं और मानव अधिकार कार्य कार्यकर्ताओ को स्वतन्त्र रूप से काम करने योग्य वातावरण बनाया जाये […]

नवभारत में आज प्रकाशित  4.11.2017  ** दुनिियां  के सत्ता  संघर्ष में सत्ताधारी वर्ग के निजी जीवन में तांक-झाँक कोई नई बात नही है ,शायद जब वैचारिक लोकतांत्रिक राजनीती नही थी, सत्ताशीन लोगों के निजी जीवन की नैतिकता ही देश की नैतिकता मानी जाती रही हो, इसीलिए जब एडवर्ड viii 20 […]

2.11.2017 राजस्थान सरकार ने अपने काले कानून के साए से आपातकाल को भी पीछे छोड़ दिया। देशभर में थू-थू हो गई, लेकिन सरकार ने कानून वापस नहीं लिया। क्या दु:साहस है सत्ता के बहुमत का। कहने को तो प्रवर समिति को सौंप दिया, किन्तु कानून आज भी लागू है। चाहे […]

Breaking News