11 सितम्बर 2017 एक बार फिर बच्चों पर चर्चा हो रही है। बात करते समय सबकी आंखें नम् है । देश के हर घर में माता-पिता चिंतित है । हमारे बच्चे अब स्कूलों में भी सुरक्षित नहीं है । कैसा समाज रच रहे हैं हम ? देश की राजधानी से लगे एक बहुत बड़े स्कूल
Complete Reading

रायपुर, 8 सितंबर 2017। कर्नाटक में सांप्रदायिक ताकतों तथा अंधश्रद्धा के खिलाफ मुखर आवाज वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की निर्मम हत्या कर दी गई, यह हत्या ठीक उसी तरह से की गई है जिस तरह से कलबुर्गी, दाभोलकर और पानसारे की हत्या की गई थी। बड़े मुर्ख हैं दक्षिणपंथी , सांप्रदायिक , धर्मांध कट्टरपंथी विचारधारा
Complete Reading

7 सितम्बर 17 अगर उन्हें हिंदूओं की फिक्र होती तो हिंदू किसान आत्महत्या न करते यदि उन्हें हिंदू बच्चों की फिक्र होती तो सैकड़ों बच्चे सरकारी अस्पतालों में मारे न जाते क्यों उनका मुकद्दम कहता कि बच्चे पालना सरकार का काम नहीं ? यकीन मानिए यह लड़ाई सिर्फ हिंदू और मुसलमान की नहीं है ।  
Complete Reading

7 सितम्बर 17 * ये घर से बुलाकर  नहीं कहते कि कपड़े उतारो,  नहाओ, और गैस चेम्बर में जाओ । ये घर से बुलाकर, सड़क पर, सब्जी खरीदते, कहीं भी सीधे गोली मार देते हैं । अपने विरोधियों को मारकर जश्न मनाना इनकी सांस्कृतिक परम्परा है । इन्होंने सबको मारकर जश्न मनाया , ताड़का से
Complete Reading

कल रात से रीढ़ में फिर से बहुत दर्द है लेकिन उससे ज़्यादा दर्द एक पोस्ट पढ़कर हुआ जिसमे लिखा है गौरी लंकेश का असली नाम पैट्रिक था और वो मूलतः ईसाई थी और उसे ईसाई धर्म प्रचार करने के लिए पैसे देते थे इसलिए उसने उनके लिए गौरी लंकेश पैट्रिक अखबार शुरू किया था.
Complete Reading

** कर्नाटक की सीनियर जर्नलिस्ट गौरी लंकेश की हत्या के बाद पूरे देश के पत्रकारों में आक्रोश है। बुधवार को बिलासपुर प्रेस क्लब में पत्रकारों ने इस संबंध में बैठक की। इसमें सभी पत्रकारों ने एक स्वर में गौरी की हत्या की निंदा की और इसे पत्रकारिता पर हमला बताया। पत्रकारों ने कहा कि हत्या
Complete Reading

साथियो लगातार देश मे गंभीर स्थितिया उत्पन्न होती ही जा रही है।कभी भीड़ में लोगो को धर्म और जात के नाम पर मार दिया जा रहा है।तो कभी लिखने पढ़ने पर देशद्रोही घोषित कर घरों में भी हत्त्याये कर दी जा रही है। जैसा कि पत्रकार गौरी लंकेश जी के साथ पिछले रात हुआ। आखिर
Complete Reading

कुमार की प्रस्तुति गौरी लंकेश नाम है पत्रिका का। 16 पन्नों की यह पत्रिका हर हफ्ते निकलती है। 15 रुपये कीमत होती है। 13 सितंबर का अंक गौरी लंकेश के लिए आख़िरी साबित हुआ। हमने अपने मित्र की मदद से उनके आख़िरी संपादकीय का हिन्दी में अनुवाद किया है ताकि आपको पता चल सके कि
Complete Reading

 THE CITIZEN BUREAU Friday, September 01,2017 NEW DELHI: The National Broadcasting Standards Authority has directed Zee News to issue a public apology and pay a Rs. one lakh fine following a complaint that objected to the channel branding Raza as part of an ‘Afzal Premi Gang’ for reciting his poems in the ‘Shankar ‘ Shaad Mushaira.’
Complete Reading

Create Account



Log In Your Account