किसान संकल्प यात्रा को रोकने राज्य सरकार की दमनात्मक कार्यवाही …जिला किसान संघ के सभी  प्रमुख किसान नेता  सुदेश टेकाम, चंदू साहू, रमाकांत बंजारे, संजीत ठाकुर, मदन साहू सहित अन्य किसान साथियों को गिरफ्तार किया गया . छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन राज्य सरकार की दमनात्मक कार्यवाही का कड़े शब्दों में निंदा करता हैं।

बस्तर के लगातार बदतर हो रहे हालात : पालनार में यौन प्रताड़ना से पीड़ित छात्रा ने किया आत्महत्या का प्रयास तो बुरकापाल गांव खाली करने का फरमान : बस्तर बचाओ सयुक्त संघर्ष समिति का जांच दल पहुचा . 18.09.2017 ** बस्तर में आदिवासियों की स्थिति लगातार बदतर होती जा रही है । एक ओर स्कूली
Complete Reading

दंतेवाड़ा /15 ,9,17 बस्तर प्रहारी से प्राप्त समाचार दंतेवाड़ा : सर्व आदिवासी समाज बस्तर संभाग के चार सूत्रीय मांगों को लेकर 6 सितम्बर की बस्तर बन्द अल्टीमेटम के 7 दिवस तक कोई कार्यवाही नहीं करने के विरोध में  आज सभी जिलों में चक्काजाम किया गया है। इसी कड़ी में दंतेवाड़ा में दंतेवाड़ा एस पी द्वारा
Complete Reading

13,9, 2017 छत्तीसगढ़ के बलरामपुर के पास एक व्यक्ति जो कपड़े के ऊपर कम्बल ओढ़ता है ग्रामीणों का कम्बल ओढ़ाने , से बीमारियों के इलाज करने की कचर्चा जोरों से है ,कम्बल ओढ़ाने के अलावा ,बच्चों के हाथ पैर खींचने ,मारपीट करने ,महिलाओ के हाथ पैर खीचने धक्का दे कर इलाज ,करने के भी वीडियो
Complete Reading

* 13.09.2017 नर्मदा घाटी के संघर्ष और लड़ाई को जिस प्रकार देश भर से समर्थन मिला, उसका धन्यवाद देते हुए, इसी प्रकार देश के लोगों और सभी जन संगठनों से घाटी की लड़ाई में साथ खड़े रहने की मेधा पाटकर ने की गुहार। साथ ही एक सवाल देश के सामने रखा कि क्या सिर्फ ईंट
Complete Reading

13,09,2017 प्रधानमंत्री मोदी जी ने वह कर दिखाया है जो मार्गरेट थैचर तथा जार्ज बुश जूनियर नहीं कर सके थे. प्रचंड बहुमत से सत्तारूढ़ होने वाले प्रधानमंत्री ने वाकई वह कर दिखाया है जो ब्रिटिश प्रधानमंत्री मार्गरेट थैचर तथा अमरीकी राष्ट्रपति जार्ज डब्लयू बुश नहीं कर सके थे. यहां तक कि मनमोहन सरकार पर लगने
Complete Reading

12.11.2017 स्वामी विवेकानंद को उनके जिस शिकागो भाषण के लिए सबसे ज्यादा याद किया जाता है, उसका पुनर्पाठ होना चाहिए। मैंने 1977 में उस भाषण को पढ़ा था, जिसे श्रीरामकृष्ण आश्रम, नागपुर ने “शिकागो वक्तृता ” शीर्षक से छापा था। आज मैंने उस भाषण को फिर से पढ़ा। सच कहूँ, मुझे वह झूट का पुलिंदा
Complete Reading

Create Account



Log In Your Account