मनरेगा में रोजगार नहीं मिलने और राशन कार्ड निरस्त होने से हुई बच्चे की मौत : कांग्रेस जाँच दल की रिपोर्ट

मनरेगा में रोजगार नहीं मिलने और राशन कार्ड निरस्त होने से हुई बच्चे की मौत : कांग्रेस जाँच दल की रिपोर्ट 

२० परिवार कर चुके हैं पलायन

पांच सदस्यीय कमेटी ने कहा, स्थिति नहीं संभली तो होगी और भयावह तस्वीररायपुर (ब्यूरो) सूरजपुर में भूख से बच्चे की मौत के मामले की जांच के लिए कांग्रेस की ओर से बनाई गई कमेटी ने बुधवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल को रिपोर्ट सौंप दी पांच सदस्यीय कमेटी में बच्चे की मौत के लिए तीन कारणों को जिम्मेदार माना है इसमें नौ महीना पहले अंत्योदय राशन कार्ड को निरस्त करना, मनरेगा में काम नहीं मिलना और जमीन अधिग्रहण के बाद मुआवजा नहीं मिलने को प्रमुख कारण बताया गया है पूर्व मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह के नेतृत्व में बनी जांच कमेटी में सीतापुर विधायक अमरजीत भगत, प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष बालकृष्ण पाठक, प्रदेश सचिव शफी अहमद और जिलाध्यक्ष अजय अग्रवाल थे प्रदेश कांग्रेस महामंत्री शैलेष नितिन त्रिवेदी ने बताया कि जांच दल ने पीड़ित संगत राम और उनके परिवार के सदस्यों से चर्चा की संगतराम और उनके बड़े भाई ने बताया कि ९ महीना पहले उनके परिवार का अंत्योदय राशनकार्ड काट दिया गया, जिसके बाद से राशन मिलना बंद हो गया ग्राम पंचायत नर्मदापुर में मनरेगा के तहत इस वर्ष कोई भी कार्य नहीं किया गया इसके कारण भुखमरी से बचने के लिए १९ मई को रोजगार के लिए सीतापुर जाना पड़ा संगतराम ने जांच कमेटी को बताया कि सूरजपुर में एक दिन काम मिला, जिसके एवज में १०० ヒपए मिले इसके बाद दो दिन तक काम नहीं मिला भूख से परेशान होकर उसने गांव वापस आने का फैसला किया पैदल गांव लौटते समय रात को बच्चे पीछे छूट गए रातभर तलाशने के बाद जब बच्चे नहीं मिले तो इसकी जानकारी प्रशासन को दी गई २२ मई को श्याम मोहन यादव को एक बच्चा खेत की मेड़ पर नीचे पड़ा दिखाई दिया अचेत श्रवण कुमार को पानी पिलाकर होश में लाया गया जबकि ५० मीटर दूर पर शिव कुमार मृत अवस्था में पड़ा था श्रवण ने बताया कि शिवकुमार पानी और खाना मांगकर रो रहा था

कांग्रेस की जांच कमेटी ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी को सौंपी रिपोर्ट

Click here to enlarge image

पांच सदस्यीय कमेटी ने कहा, स्थिति नहीं संभली तो होगी और भयावह तस्वीरि;/ॅ।;ॅ।रायपुर (ब्यूरो) सूरजपुर में भूख से बच्चे की मौत के मामले की जांच के लिए कांग्रेस की ओर से बनाई गई कमेटी ने बुधवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल को रिपोर्ट सौंप दी पांच सदस्यीय कमेटी में बच्चे की मौत के लिए तीन कारणों को जिम्मेदार माना है इसमें नौ महीना पहले अंत्योदय राशन कार्ड को निरस्त करना, मनरेगा में काम नहीं मिलना और जमीन अधिग्रहण के बाद मुआवजा नहीं मिलने को प्रमुख कारण बताया गया है पूर्व मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह के नेतृत्व में बनी जांच कमेटी में सीतापुर विधायक अमरजीत भगत, प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष बालकृष्ण पाठक, प्रदेश सचिव शफी अहमद और जिलाध्यक्ष अजय अग्रवाल थे प्रदेश कांग्रेस महामंत्री शैलेष नितिन त्रिवेदी ने बताया कि जांच दल ने पीड़ित संगत राम और उनके परिवार के सदस्यों से चर्चा की संगतराम और उनके बड़े भाई ने बताया कि ९ महीना पहले उनके परिवार का अंत्योदय राशनकार्ड काट दिया गया, जिसके बाद से राशन मिलना बंद हो गया ग्राम पंचायत नर्मदापुर में मनरेगा के तहत इस वर्ष कोई भी कार्य नहीं किया गया इसके कारण भुखमरी से बचने के लिए १९ मई को रोजगार के लिए सीतापुर जाना पड़ा संगतराम ने जांच कमेटी को बताया कि सूरजपुर में एक दिन काम मिला, जिसके एवज में १०० ヒपए मिले इसके बाद दो दिन तक काम नहीं मिला भूख से परेशान होकर उसने गांव वापस आने का फैसला किया पैदल गांव लौटते समय रात को बच्चे पीछे छूट गए रातभर तलाशने के बाद जब बच्चे नहीं मिले तो इसकी जानकारी प्रशासन को दी गई २२ मई को श्याम मोहन यादव को एक बच्चा खेत की मेड़ पर नीचे पड़ा दिखाई दिया अचेत श्रवण कुमार को पानी पिलाकर होश में लाया गया जबकि ५० मीटर दूर पर शिव कुमार मृत अवस्था में पड़ा था श्रवण ने बताया कि शिवकुमार पानी और खाना मांगकर रो रहा था ।जांच दल ने बताया कि नर्मदापुर ग्राम पंचायत के २० परिवार के लोग रोजगार की तलाश में अन्य स्थानों पर जा चुके हैं गांव से लगातार पलायन जारी है यदि स्थिति को नियंत्रण करने शासन द्वारा आवश्यक कदम नहीं उठाया गया तो भविष्य में ऐसी घटनाएं और भी हो सकती हैं२३ मई को पेज-१ में प्रकाशित

cgbasketwp

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account



%d bloggers like this: