चीन तक हो रही है छत्तीसगढ़ के मजदूरो की गुलामी के लिए तस्करी



चीन तक हो रही है छत्तीसगढ़ के मजदूरो  की गुलामी के लिए तस्करी 


रायपुर. छत्तीसगढ़ में मानव तस्करी के अंतरराष्ट्रीय गिरोह की सक्रियता उजागर होने के बाद अब एक और चौंका देने वाला खुलासा हुआ है। यह गिरोह जांजगीर-चांपा के 12 मजदूरों को 15 अगस्त को सिंगापुर में कंस्ट्रक्शन वर्क कर रही चीनी कंपनी सीनो हाइड्रो का गुलाम बनाने वाला था। इनके पासपोर्ट, वीजा, टिकट बन गए थे, लेकिन “पत्रिका” की खबर के बाद सक्रिय हुई पुलिस से गिरोह के मनसूबों पर पानी फिर गया। कबूतरबाजी का मुख्य सरगना अहमदाबाद निवासी संदीप फरार हो गया। पुलिस के हत्थे चढ़े विजय वर्मन व विकास सोनवानी छत्तीसगढ़ में संदीप के लिए ही काम करते थे। जांजगीर एसपी प्रशांत अग्रवाल ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि इन मजदूरों को सिंगापुर जाने से रोक लिया गया है।
चार खेप में भेजा
पुलिस के मुताबिक दलाल विजय हाई स्कूल पास है। उसके पास से बीए और एमए की फर्जी डिग्री बरामद की गई है। चौंकाने वाली जानकारी यह मिली कि वह 2013 से मई-2015 के बीच चार खेप में मजदूरों को मलेशिया भेज चुका है। इनमें से कई मजदूरों को महीनेभर कोलकाता और चेन्नई में रखा गया।
और दलालों की होगी गिरफ्तारी
पुलिस का दावा है कि मलेशिया में बंधक बनाए गए 22 मजदूरों को भेजने के मामले में जल्द ही गिरोह के कई और दलालों की गिरफ्तारी की जाएगी।
सीनो हाइड्रो भेजे जाने थे मजदूर
पत्रिका की पड़ताल के मुताबिक कुछ समय पहले मलेशिया रहकर आए विजय को अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करों ने ज्यादा कमीशन देने का लालच दिया था। इसके बाद उसने साथी विकास और अन्य दलालों के साथ मिलकर जांजगीर के 12 मजदूरों को सीनो हाइड्रो की सिंगापुर ब्रांच में भेजने की पूरी तैयारी कर ली थी। उन्हें कोलकाता से फ्लाइट से भेजा जाना तय किया गया था।

cgbasketwp

Leave a Reply

Next Post

तोकपाल में 10 साल में तीन हजार चन्दन के पेड़ वन विभाग की लापरवाही के शिकार

Tue Aug 4 , 2015
तोकपाल में 10  साल में  तीन हजार चन्दन के पेड़ वन विभाग की लापरवाही के शिकार  जगदलपुर (ब्यूरो)। विकासखण्ड तोकापाल के […]

Breaking News