प्रभावितो को उचित मुवावजा और पुनर्वास दिए बिना ही खनन के कार्य को आगे बढ़ाना गैरकानूनी

* प्रभावितो को उचित मुवावजा और पुनर्वास दिए बिना ही  खनन के कार्य को आगे बढ़ाना गैरकानूनी ।

* आंदोलनरत ग्रामीणों को  तत्काल रिहा करो ..
**
कोरबा जिले में एस ई सी एल प्रबंधन के द्वारा प्रभावित किसान, आदिवासियों  के हकों को सुनिश्चित किये बिना ही गैर कानूनी रूप से खनन परियोजना को आगे बढ़ाया जा रहा हैं। जानकारी अनुसार  कोरबा जिले के  सराईपाली खुली खदान से प्रभावित ग्राम बुडबुड  में 2004 में भू अधिग्रहण किया गया और 2013 में
1,24000 प्रति एकड से दर से जमीन का मुआवजा यह कहकर गांव वालो को दिया गया कि जब भी मुआवजा राशि बढेगा….तो बढाकर दिया जायेगा। लेकिन SECL प्रबंधन ने आज तक मुआलजा राशि को नही बढाया और नही किसी को रोजगार दिया और न ही पुनर्वास हेतु अन्य जमीन । आज एस ई सी एल द्वारा
जंगल की कटाई शुरू करवा दी गई जिसका ग्रामीणों ने विरोध किया। व्यापक विरोध को देखते हुए प्रबंधन के इशारे पर पुलिस द्वारा 2 ग्रामीणों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन एस ई सी एल की मनमानी और इस पुलिसिया कार्यवाही का पुरजोर विरोध करता हैं और गिरफ्तार ग्रामीणों की शीघ्र रिहाई की मांग करता हैं । इसके साथ ही जब तक बेहतर  पुनर्वास और उचित  मुवावजा का वितरण नहीं किया जाता खदान के कार्य को आगे न बढ़ाया जाए।
****
 नंद कशयप ,आनंद मिश्रा
छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन

cgbasketwp

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account



%d bloggers like this: