दो साल केबाद भी नहीं दिया मुआवज़ा , सूरजपुर तारकोल ब्लॉक के विरोध में आदिवासी

 दो साल केबाद भी नहीं दिया मुआवज़ा , सूरजपुर  तारकोल ब्लॉक  के विरोध में आदिवासी 


सूरजपुर। जिले के ताराकोल ब्लाक के प्रभावित डेमनगर के ग्रामीण आज बड़ी संख्या में मुआवजे की मांग को लेकर कलेक्टोरेट पहुंच गए और कहा कि 15 दिनों मेंमुआवजा नहीं मिलने पर आंदोलनकी चेतावनी दी।
सीएमडीसी के कोलब्लाक के लिए ग्रामीणों की जमीनोंका अधिग्रहण दो वर्ष पूर्व किया गयाहै,लेकिन अब तक मुआवजा कावितरण नहीं किया गया है। आक्रोशितग्रामीणों ने नई नीति के तहत मुआवजा”ङदान किए जाने की मांग की है।
ङेमनगर ब्लाक के कांटारोली,जर्नादनपुर, मेण्ड्रा, शिवनगर आदि केग्रामीण “ङेमनगर ब्लाक कांग्रेस कमेटीके अध्यक्ष तुलसी यादव के नेतृत्व मेंबुधवार को यहां पहुचो थे। ग्रामीणों नेकलेक्टर को दिए ज्ञापन में कहा है किताराकोल ब्लाक (सीएमडीसी) के लिए2 वर्ष पूर्व उनकी जमीनों का अधिग्रहणकिया गया है।
तत्कालीन गृहमंत्री कीअध्यक्षता में मुआवजे के लिए आवार्डपारित किया गया था परंतु आज तकग्रामीणों को मुआवजा नहीं मिला है।इससे न तो वे भूमि पर कृषि कार्य करपा रहे हैं और न ही उसका सुधार हो पारहा है। ग्रामीणों ने कहा है कि मुआवजाअधर में लटक जाने के कारण उनकाजीवन स्तर भी प्रभावित हो रहा है।
कंपनी से जब भी मुआवजे की मांग कीजाती है तो वे गोलमोल जवाब देकर उन्हेंटरका देते हैं। ग्रामीणों ने बताया कि उन्हेंपता चला है कि ग्राम तारा के करीब 26 प्रभावितों को चेक दिया जाना है,जबकि कई ग्रामीणों की भूमि अधिग्रहित की गई है।
इनके मुआवजे का कोई अतापता नहीं है। ग्रामीणों ने कहा है सभी को एक साथ मुआवजा दिया जाना चाहिए। ऐसा नहीं होता है तोवे अपनी जमीन कोल कंपनी को नहीं देंगे।
साथ ही ग्रामीणों ने अब नए नियमके मुताबिक जमीन के मुआवजे कीमांग की है एवं ग्रामीणों के लिए उचितस्वास्थ्य, शिक्षा, आवास, आईटीआईकी मांग भी अब तक अधूरी है।
ग्रामीणों ने दिए ज्ञापन में कहा है कि उक्त मांगों केसाथ ही सभी ग्राम के लोगों को एक साथमुआवजा दिए जाने की व्यवस्था होनीचाहिए, अन्यथा वे आंदोलन के बाध्यहोंगे।
ज्ञापन सौंपने के दौरान करीब 500ग्रामीण पहुंचे थे जिन्हें भूमि-अर्जन समिति के अध्यक्ष बिसारीलाल समेत सुरेशदास, अजय सिंह, भूषण, सालिकरामआदि शामिल थे।

cgbasketwp

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account



%d bloggers like this: