तीनो आदिवासी युवको को खेत में जाके बुरी तरह पीटा , सोढ़ी मुया  की की  लाश को उठवाया और  थाने ले जाके  सर में नजदीक से गोली मार के ड्रेस पहना दी ,
प्रत्यक्ष दर्शी दर्शी का बयांन 

सुकमा के  पोलम पल्ली थाना क्षेत्र के अंतर्गत अरालपल्लि में माओवादी  बताते  हुए तीन आदिवासी युवको को पुलिस की गोली से मौत पे उनके परिजनों और ग्रामीणो ने पुलिस पे फर्जी मुठभेड़ की कहानी रचने का आरोप लगाया है , मारे गए दुधि भीमा ,वेट्टी लच्छू और सोढ़ी मुया को गोली मरने की घटना के  गवाह दुधि हिड़मे ,दुधि देवे और दुधि जोगी ने बुधवार को बताया की मंगलवॉर को तीनो युवक साईकल से कटाई के लिए खेत के लिए निकले थे ,इसके बाद बाड़ी से छिंदगस के लिया निकल रहे थे।

इसी बीच  सुरक्षा बल  के जवान बड़ी संख्या में वहा पहुंचे ,कुछ जवानो ने दुधि भीमा और वेट्टी  को पकड़  के बुरी तरह पीटना शुरू कर दिए ,जिसे देखके मुया भागने लगा ,मुया को भागते देख जवान ने उसपे गोली चला दी जो उसके पीठ पे लगी ,उसके बाद सैनिको ने दुधि और ववेट्टी  से मुया का शव उठाने और उसे लेके चलने के लिया कहा ,शव लेके जब ये दोनों पोलम पल्ली के अतुलपर पहुंचे तो जवानो ने इन दोनों के सर पे नजदीक से गोली मर दी। 
इसके बाद तीनो के शव  लाद के पोलम पल्ली थाना ले गए वह इन तीनो को माओवादियों की काली वर्दी पहना दी गई। 

और इस प्रकार सुरक्षा  सिपाहियों ने तीन आदिवासी युवको की हत्या कर दी। 
आदिवासी महासभा के राष्ट्रीय महासचिव मनीष कुंजाम ने कलेक्टर और एसपी से मिल के ज्ञापन सौंपा और मांग की की पुलिस के जिम्मेदार लोगो  हत्या  दर्ज़ किया जाये  मनीष के साथ ज्ञापन देने वालो में उसी गाव   उप सरपंच सोढ़ी हाड़ा ,आराधना मरकाम और पोडियम भीमा शामिल थे। 









cgbasketwp

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account



%d bloggers like this: