माओ वादियों के आत्मसमर्पण पे कांग्रेस ने उठाये सवाल , पुलिस समपर्ण की आड़ में कोई नई पठकथा लिखी जा रही हैं। इस पठकथा का खुलासा होना चाहिए।

माओ वादियों  के आत्मसमर्पण पे कांग्रेस ने उठाये सवाल ,   पुलिस समपर्ण की आड़ में कोई नई  पठकथा  लिखी जा रही हैं।  इस पठकथा का खुलासा  होना चाहिए।  

पिछले दिनों से छत्तीसगढ़  में अचानक माओवादियों के आत्मसमर्पण की कहानिया मीडिया में छप  रही है ,इसकी सत्यता पे कांग्रेस के अध्यक्ष  भूपेश बघेल ने प्रशन उठाये हैं , उन्होंने कहा की पुलिस भोले भाले आदिवासियों को समर्पण करके वाह  वाही लूट रही हैं ,
अभी हल में दो हार्ड कोर माओवादी बता के समर्पण कराया गया ,जब की हकीकत ये है की चेतराम सलाम की पत्नी मञ्जूषा खाना बनाने का काम करती हैं ,बाघेल ने कहा की जिस पुलिस अधिकारी ने समर्पण की बागडोर सम्हाली हैं उसके फर्जी कारनामे सब जानते हैं ,उन्होंने इन आई ये के जाँच के तरीके पे भी सवाल उठाये ,कहा  की इसने अभी तक बस्तर और सुकमा के पुलिस अधिकारियो और इंटेलिजेंस प्रमुख तक से पूछताछ नहीं की ,जिससे संदेह पैदा होता हैं ,एनआईए को हर हालत में पुलिस अधिारियो का नार्को टेस्ट करवाना चाहिये।

बघेल ने कहा की झीरम घाटी के हमले में सरकार और उसके लोग शामिल हैं , ये तभी संभव है जब इसमें पुलिस के लोग शामिल हों  ., ऐसा लगता है की पुलिस समपर्ण की आड़ में कोई नई  पठकथा  लिखी जा रही हैं।  इस पठकथा का खुलासा  होना चाहिए।  

cgbasketwp

Leave a Reply

Next Post

Reflections on Solidarity for Palestine in India: Urvashi Sarkar

Fri Aug 29 , 2014
Reflections on Solidarity for Palestine in India: Urvashi Sarkar AUGUST 28, 2014 tags: ICACBI, Indian policy on Israel, Indian solidarity with Palestine by Nivedita Menon […]

Breaking News